एडवांस्ड सर्च

नोएडाः वेब वर्क कंपनी के दफ्तर पर पुलिस का छापा, अहम दस्तावेज बरामद

37 अरब की ऑनलाइन ठगी करने वाले अनुभव मित्तल की तर्ज पर ही नोएडा में वेब वर्क कंपनी का खुलासा हुआ था. जिसमें पांच सौ करोड़ के घोटाले का अंदेशा है. नोएडा पुलिस ने इस कंपनी के दफ्तर पर छापामार कर अहम दस्तावेज बरामद किए हैं. साथ ही इस कंपनी के खातों को फ्रीज कर दिया गया है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ चिराग गोठी नोएडा, 16 February 2017
नोएडाः वेब वर्क कंपनी के दफ्तर पर पुलिस का छापा, अहम दस्तावेज बरामद पुलिस वेब वर्क कंपनी के संचालक अनुराग गर्ग और सन्देश वर्मा को जल्द गिरफ्तार कर सकती है

37 अरब की ऑनलाइन ठगी करने वाले अनुभव मित्तल की तर्ज पर ही नोएडा में वेब वर्क कंपनी का खुलासा हुआ था. जिसमें पांच सौ करोड़ के घोटाले का अंदेशा है. नोएडा पुलिस ने इस कंपनी के दफ्तर पर छापामार कर अहम दस्तावेज बरामद किए हैं. साथ ही इस कंपनी के खातों को फ्रीज कर दिया गया है.

नोएडा पुलिस के पुलिस उपाधीक्षक गौरव ग्रोवर ने बताया कि इस मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद वेब वर्क कंपनी के दफ्तर पर छापा मार कर अहम दस्तावेज बरामद किए गए हैं. साथ ही कंपनी के एक्सिस बैंक में संचालित खातों को भी पुलिस ने फ्रीज करा दिया है.

इस मामले में वादी एके जैन ने वेब वर्क कंपनी के मालिक अनुराग गर्ग और सन्देश वर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. पांच सौ करोड़ के इस घोटाले वाली स्कीम में सैंकडो लोगों ने रुपया लगाया हुआ है. पुलिस के बाद इस मामले की जांच भी एसटीएफ को सौंप दी गई है.

वेब वर्क कहें या फिर एबीसी ये दोनों एक ही शख्स की कपंनी हैं. जिनका संचालन नोएडा के सेक्टर 2 में डी-57 से किया जा रहा है. सोशल मीडिया और नेट पर इनकी पहचान ADDSBOOKS.COM के नाम से की जा सकती है. इस कंपनी के जाल में फंस चुके लोग इनके दफ्तर के बाहर प्रदर्शन भी कर चुके हैं.

बताते चलें कि इस मामले का खुलासा अमित कुमार जैन नामक एक सोशल वर्कर की शिकायत के बाद हुआ था. अमित ने भी एबीसी कंपनी में पैसा इन्वेस्ट किया है. उन्होंने 3 लाख 45 हज़ार रुपये का निवेश किया था. कुछ दिन तो इनको पैसा मिलता रहा, लेकिन अब पैसा आना बंद हो गया, इतना ही नहीं अब कंपनी की वेब साइट भी नहीं चल रही है.

इस सिलसिले में नोएडा के सेक्टर 20 थाने में अमित कुमार जैन ने मुकदमा दर्ज कराया था. अमित ने वेब वर्क कंपनी के मालिक को अनुराग गर्ग और सन्देश वर्मा के खिलाफ नामजद शिकायत कराई थी. प्राथमिक जांच के मुताबिक ये घोटाला 500 करोड़ का है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay