एडवांस्ड सर्च

मुंबईः मोबीक्विक फ्रॉड मामले में एक बैंक मैनेजर गिरफ्तार

आरोपी ने मोबीक्विक से 1,853 बार ट्रांजैक्शन कर करीब 93 लाख रुपए निकाले. साइबरसेल ने इस मामले में 52 लोगों को नोटिस भेजा है, जिसमें कई लोगों ने पैसे लौटा भी दिए थे.

Advertisement
तनसीम हैदर [Edited by : आशुतोष]नई दिल्ली, 22 December 2017
मुंबईः मोबीक्विक फ्रॉड मामले में एक बैंक मैनेजर गिरफ्तार गिरफ्तार बैंक मैनेजर ने फ्रॉड कर 93 लाख रुपये चुराए

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में हुए मोबीक्विक फ्रॉड मामले में साइबर सेल की पुलिस टीम ने एक निजी बैंक के मैनेजर को मुंबई से गिरफ्तार किया है. पुलिस करीब 20 करोड़ रुपये के फ्रॉडगिरी के इस मामले में गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ कर रही है. गिरफ्तार बैंक मैनेजर को 6 दिन के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है.

डिजिटल वॉलेट कंपनी मोबीक्विक के खाते से ऑनलाइन 19.60 करोड़ रुपए धोखाधड़ी के जरिए ट्रांसफर कर लिए गए थे. गिरफ्तार आरोपी पर इस राशि में 93 लाख रुपये धोखे से अपने खाते में ट्रांसफर करा लिए थे. इसी आरोप में बैंक मैनेजर को गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस के मुताबिक मोबीक्विक मामले में यह दूसरी गिरफ्तारी है. पुलिस गिरफ्त में आया यह शख्स मुंबई का रहने वाला है और मुबंई में ही एक निजी बैंक में मैनेजर है. जानकारी के मुताबिक आरोपी ने मोबीक्विक से 1,853 बार ट्रांजैक्शन कर करीब 93 लाख रुपए निकाले.

पुलिस ने आरोपी बैंक मैनेजर को 6 दिन की पुलिस रिमांड पर लेकर ट्रांजैक्शन से जुड़ी सभी जानकारियां हासिल कर रही है. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस कमिश्नर ने इस मामले की जांच साइबर सेल को सौंपी थी. साइबरसेल ने इस मामले में 52 लोगों को नोटिस भेजा है, जिसमें कई लोगों ने पैसे लौटा भी दिए थे.

यह ऑनलाइन फ्रॉड बीते तीन महीने के दौरान हुआ था. जैसे ही कंपनी को इस धांधली के बारे में पता लगा कंपनी ने तुरंत पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई. पुलिस के मुताबिक यह पूरी रकम किसी एक या दो खातों में ट्रांसफर नहीं हुए, बल्कि 6,000 लोगों के खातों में हुआ था.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay