एडवांस्ड सर्च

डिजिटल वॉलेट कंपनी केसः पुलिस ने 50 लोगों को भेजा नोटिस

गुडगांव पुलिस ने करीब एक माह पहले एक डिजिटल वॉलेट कंपनी के खाते से 19 करोड से ज्यादा की रकम गायब होने के मामले में 50 लोगों को नोटिस भेजा है. कंपनी के खाते से उपरोक्त रकम 6000 हजार खातों में चली गई थी. जिसमें से कुछ लोगों ने पैसा वापस लौटा दिया है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ तनसीम हैदर गुडगांव, 26 October 2017
डिजिटल वॉलेट कंपनी केसः पुलिस ने 50 लोगों को भेजा नोटिस कुछ लोगों ने कंपनी को पैसा लौटाया भी है

गुडगांव पुलिस ने करीब एक माह पहले एक डिजिटल वॉलेट कंपनी के खाते से 19 करोड से ज्यादा की रकम गायब होने के मामले में 50 लोगों को नोटिस भेजा है. कंपनी के खाते से उपरोक्त रकम 6000 हजार खातों में चली गई थी. जिसमें से कुछ लोगों ने पैसा वापस लौटा दिया है.

बीती 30 सितंबर को डिजिटल वॉलेट कंपनी मोबिक्विक ने गुड़गांव पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी कि कंपनी के खाते से 19 करोड 60 लाख रुपये की रकम गायब हो गई. साइबर सेल की जांच में मामला ऑनलाइन फ्रॉड का निकला. जिसे बीते तीन महीने के दौरान अंजाम दिया गया.

जब कंपनी को इस धांधली के बारे पता लगा तब तक देर हो चुकी थी. कंपनी के खाते 19 करोड़ से ज्यादा की रकम अलग-अलग 6000 खातों में ट्रांसफर हो चुकी थी. कंपनी ने तुरंत पुलिस को शिकायत दर्ज कराई. जिसके बाद पुलिस के साइबर सेल ने अज्ञात लोगों के खिलाफ साइबर क्राइम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था.

जांच में पता चला कि कुरुक्षेत्र का एक ऐसा शख्स है, जिसके खाते में करीब 2 करोड़ रुपये ट्रांसफर हुए थे. इसके अलावा 6000 खातों में पैसा ट्रांसफर हुआ. लिहाजा पुलिस के लिए अब ये जानना बेहद जरूरी था कि ये ऑनलाइन फ्रॉड का मामला है या फिर कंपनी के सिस्टम में खराबी का नतीजा.

गुडगांव पुलिस के प्रवक्ता मनीष सहगल ने बताया कि पुलिस ने जांच के दौरान जहां 100 से 120 खातों को सीज किया, वहीं कुछ लोगों ने उनके खाते में आए कंपनी पैसे लौटा भी दिए हैं. अभी इस मामले में कई लोगों से पूछताछ की जा रही है.

दूसरी तरफ कंपनी के अधिकारी इस मामले पर अभी भी चुप्पी साधे हुए हैं. वे कैमरे पर कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं हैं. मगर कंपनी मामला सामने आने के बाद से ये जरुर कह रही हैं कि उनके युजर्स का पूरा डाटा और पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है.

साइबर सेल के अधिकारी कंपनी के कई कम्प्यूटरों की जांच कर रहे हैं. साथ ही वह कंपनी के सिस्टम की बारीकी से जांच पड़ताल कर रहे हैं. इस काम के लिए पुलिस कुछ साइबर विशेषज्ञों की मदद ले रही है, ताकि ये पता लग सके कि एक साथ इतनी बड़ी रकन कंपनी के खाते से अन्य लोगों के खातों में कैसे पहुंची.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay