एडवांस्ड सर्च

आपातकाल की घोषणा के वायरल मैसेज को सेना ने बताया फर्जी

सेना ने इस मैसेज पर सफाई देते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर अप्रैल के मध्य में आपातकाल की घोषणा संबंधी मैसेज सेना का हवाला देकर वायरल हो रहे हैं, वो नकली और दुर्भावनापूर्ण संदेश हैं. वे मैसेज बिल्कुल नकली हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 30 March 2020
आपातकाल की घोषणा के वायरल मैसेज को सेना ने बताया फर्जी सेना ने वायरल मैसेज को लेकर सफाई दी है (फाइल फोटो- PTI)

भारतीय सेना ने सोशल मीडिया पर वायरल उस मैसेज का खंडन किया है, जिसमें अप्रैल के मध्य में आपातकाल की घोषणा के बारे में कहा गया है. साथ ही उस मैसेज में कहा गया था कि उस दिन से भारतीय सेना, राष्ट्रीय कैडेट कोर और राष्ट्रीय सेवा योजना की इकाई प्रशासन संभाल लेंगी.

ये ज़रूर पढ़ेंः सरकार के सख्त कदम का दिख रहा असर, लापरवाही से हो जाएंगे पीछे

एएनआई के मुताबिक सेना ने इस मैसेज पर सफाई देते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर अप्रैल के मध्य में आपातकाल की घोषणा संबंधी मैसेज सेना का हवाला देकर वायरल हो रहे हैं, वो नकली और दुर्भावनापूर्ण संदेश हैं. वे मैसेज बिल्कुल नकली हैं.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से आई महामारी के बाद सरकार ने पूरे देश में 21 दिन का लॉक डाउन घोषित किया है. देश के सभी राज्यों में पूरी तरह से बंदी है. कई राज्यों में हालात को देखते हुए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं. इसी दौरान सोशल मीडिया पर कई तरह के मैसेज वायरल हो रहे हैं, जिनमें फेक मैसेज और फेक न्यूज की संख्या बहुत ज्यादा है.

Must Read: भारत में 21 दिन के लॉकडाउन से ही कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाना मुमकिन नहीं

इसी के चलते सेना का हवाला देकर पूरे देश में अप्रैल माह के मध्य आपातकाल लगाने की घोषणा का एक मैसेज सोशल मीडिया में वायरल हो रहा था. जिस पर सेना ने सफाई पेश की है. उस मैसेज को पूरी तरह से बेबुनियाद बताया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay