एडवांस्ड सर्च

IS स्लीपर सेल के फर्जी अकाउंट पर नजर, CAA पर कर रहे थे भड़काऊ पोस्ट

रविवार को दिल्ली पुलिस ने राजधानी के जामिया इलाके से एक दंपति को गिरफ्तार किया है. इनके तार इस्लामिक स्टेट के खुरासान मोड्यूल से जुड़े हैं. दोनों पर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के लिए भड़काने का आरोप है.

Advertisement
aajtak.in
अरविंद ओझा नई दिल्ली, 09 March 2020
IS स्लीपर सेल के फर्जी अकाउंट पर नजर, CAA पर कर रहे थे भड़काऊ पोस्ट पुलिस ने एक दंपति को किया था गिरफ्तार

  • CAA के खिलाफ प्रदर्शन में साजिश के संकेत
  • गिरफ्तार दंपत्ति के IS कनेक्शन की जांच
  • घर से भड़काऊ साहित्य भी बरामद

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध का आईएसआईएस कनेक्शन सामने आया है. दिल्ली पुलिस ने एक दंपति को गिरफ्तार किया है, जो राजधानी में रह कर आईएस के आतंकी एजेंडे को आगे बढ़ा रहा था. इस गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस और इंटेलिजेंस एजेंसियों की नजर कई सोशल मीडिया अकाउंट पर है. आईएस से जुड़े कई स्लीपर सेल ने फर्जी नाम से आईडी बनाए हैं. इन अकाउंट के जरिए भड़काऊ पोस्ट किए जा रहे थे.

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने राजधानी के जामिया इलाके से एक दंपति को गिरफ्तार किया है. इनके तार इस्लामिक स्टेट के खुरासान मोड्यूल से जुड़े हैं. दोनों पर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के लिए भड़काने का आरोप है. 36 साल के जहानजेब सामी और उसकी पत्नी हिना बशीर बेग को कल सुबह ही पुलिस ने आखोला विहार में छापे मार कर गिरफ्तार किया. दिल्ली को पटियाला हाउस कोर्ट के जज के घर में पेश किया गया, जहां से दोनों को 17 मार्च तक पुलिस हिरासत में भेज दिया.

कई नाम, सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय

गिरफ्त में आए जहानजेब सामी के कई नाम हैं, .मसलन दाऊद इब्राहिम, मोहम्मद-अल-हिंद और अबु अब्दुल्लाह. श्रीनगर के रहने वाले सामी काफी वक्त से दिल्ली में रहता था. पुलिस के मुताबिक, पति-पत्नी दोनों प्रतिबंधित आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के सदस्य थे. आरोप है कि दोनों भड़काने वाले बैनर-पोस्टर, लिटेरेचर फैलाकर लोगों को सड़क पर उतरने के लिए उकसाते थे. दोनों सोशल माडिया पर भी काफी सक्रिय रहे हैं.

आईएसआईएस के एजेंडे को बढ़ाते थे आगे

फर्जी आईडी से दोनों टेलीग्राम, फेसबुक, थ्रीमा, श्योर स्पॉट, इंस्टाग्राम के साथ-साथ ट्विटर पर भी आईएस के एजेंडे को आगे बढ़ाते थे. दिल्ली पुलिस ने छापेमारी में दोनों के घर से 4 मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, एक हार्ड डिस्क के साथ-साथ कई भड़काऊ सामाग्री जब्त की. आरोप है कि आईएस की ऑनलाइन मैगजीन पर भी दोनों सक्रिय रहे हैं. ये लोग प्रधानमंत्री, गृहमंत्री के साथ-साथ एनएसए अजित डोभाल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीरों को इस्तेमाल कर भी लोगों को भड़काते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay