एडवांस्ड सर्च

Nirbhaya Rape Case: चारों गुनहगारों को दी जाएगी फांसी, जेल में 2 कुएं, 2 तख्त तैयार

निर्भया कांड के गुनहगारों की सजा का ऐलान हो चुका है अब चार मुजरिमों को मौत की सजा देने के लिए तिहाड़ जेल में दो कुएं और दो तख्त तैयार किए गए हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in/ परवेज़ सागर नई दिल्ली, 09 January 2020
Nirbhaya Rape Case: चारों गुनहगारों को दी जाएगी फांसी, जेल में 2 कुएं, 2 तख्त तैयार निर्भयाकांड के दोषी दरिंदों को फांसी की सजा सुनाई गई है

  • फांसी के लिए तिहाड़ जेल में तैयारी पूरी
  • नया कुआं और तख्त बनकर तैयार
  • फांसी घर की सुरक्षा TSPF के हवाले

निर्भया कांड के गुनहगारों की सजा का ऐलान अदालत कर चुकी है. चारों को सजा-ए-मौत का फरमान सुनाया गया है. चार मुजरिमों को मौत की सजा देने के लिए तिहाड़ जेल में दो कुएं और दो तख्त तैयार किए गए हैं. जेल के फांसीघर में एक कुआं और एक तख्त पहले से मौजूद था, अब और एक तख्त और एक कुआं रातों-रात बनाकर तैयार किया गया है.

एक साथ 4 मुजरिमों को मिलेगी सजा-ए-मौत

तिहाड़ जेल मुख्यालय में तैनात एक आला अधिकारी ने IANS को बताया, "दरअसल, चारों मुजरिमों को एक ही वक्त फांसी दिए जाने का अदालती हुक्म जारी हुआ है. तिहाड़ जेल के कई दशक पुराने फांसीघर में एक साथ दो मुजरिमों को ही टांगने का इंतजाम था. अब तक के इतिहास में यह पहला मौका आया है, जब देश में किसी अपराध को लेकर एक साथ चार कातिलों को एक साथ सजा-ए-मौत मिलेगी. लिहाजा, फांसी-घर में पहले से मौजूद पुराने तख्त और कुएं के बराबर में ही एक नया तख्त-तहखाना (फांसी तख्ता और कुआं) तैयार कर लिया गया है."

दिल्ली जेल मैनुअल के अनुसार होगी फांसी

अधिकारी के मुताबिक यह सब दिल्ली राज्य लोक निर्माण विभाग ने तिहाड़ जेल प्रशासन के सहयोग से किया है. तिहाड़ जेल महानिदेशालय के आला अफसर ने आगे कहा, "चारों मुजरिमों को फांसी देने की प्रक्रिया में दिल्ली जेल मैनुअल का ध्यान रखा जाएगा. तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. जहां तक मीडिया में चार-चार कुएं या फांसी-तख्त बनाए जाने की खबरें आ रही हैं, वे सब बे-बुनियाद हैं."

नया कुआं और तख्त बनकर तैयार

तिहाड़ जेल के एक अन्य अधिकारी के मुताबिक, फांसीघर में पहले से मौजूद प्लेटफॉर्म (तख्त) और तहखाने में चूंकि दो मुजरिमों को ही एक साथ लटकाया जाना संभव था, इसलिए उस पुराने वाले तख्त-तहखाने के बराबर में एक और नया तख्त (प्लेटफार्म) और तहखाना बनवा दिया गया है. साथ ही फांसीघर की साफ-सफाई भी कराई गई है.

फांसीघर की सुरक्षा बढ़ाई गई

अधिकारी ने बताया कि जेल के फांसीघर की सुरक्षा भी एहतियातन बढ़ा दी गई है. हालांकि फांसीघर से जेल के किसी कर्मचारी का रोजमर्रा की जिंदगी में कोई वास्ता नहीं होता. अब, जब चार मुजरिमों को एक साथ फांसी देने का आदेश हुआ है, तो फांसीघर की सुरक्षा में तमिलनाडु स्पेशल पुलिस के हथियारबंद जवान दिन-रात वहां तैनात किए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay