एडवांस्ड सर्च

Advertisement

आसाराम केस: पीड़ित लड़की की जुबानी, जानिए क्या हुआ था उस रात

यौन शोषण केस में आसाराम को जोधपुर कोर्ट ने दोषी करार दिया है. इस मामले में आसाराम पर पीड़िता ने काफी गंभीर आरोप लगाए थे.
आसाराम केस: पीड़ित लड़की की जुबानी, जानिए क्या हुआ था उस रात यौन शोषण केस में जेल में बंद आसाराम
aajtak.in [Edited by: मुकेश कुमार गजेंद्र]नई दिल्ली, 25 April 2018

यौन शोषण केस में आसाराम को जोधपुर कोर्ट ने दोषी करार दिया है. इस मामले में आसाराम पर पीड़िता ने काफी गंभीर आरोप लगाए थे. पीड़िता का आरोप है कि 15 और 16 अगस्त 2013 की दरम्यानी रात जोधपुर के एक फार्म हाउस में आसाराम ने इलाज के बहाने उसका यौन उत्पीड़न किया था. पीड़िता ने दिल्ली के कमलानगर थाने में 19 अगस्त 2013 को आसाराम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी.

आसाराम पर ज़ीरो नंबर की एफआईआर दर्ज हुई थी, जिसे बाद में जोधपुर ट्रांसफर कर दिया गया था. आसाराम के खिलाफ आईपीसी की धारा 342, 376, 354-ए, 506, 509/34, जेजे एक्ट 23 व 26 और पोक्सो एक्ट की धारा 8 के तहत केस दर्ज हुआ था. इसके बाद 31 अगस्त 2013 को मध्य प्रदेश के इंदौर से आसाराम को गिरफ्तार किया गया था.

जोधपुर सेशन कोर्ट में आसाराम के खिलाफ केस चला. कोर्ट ने आरोप तय किए. आरोप पत्र में 58 गवाह पेश किये गए, जबकि अभियोजन पक्ष की तरफ से 44 गवाहों ने गवाही दी. 11 अप्रैल 2014 से 21 अप्रैल 2014 के दौरान पीड़िता के 12 पेज के बयान दर्ज किये गए. 4 अक्टूबर 2016 को आसाराम के मुल्जिम बयान दर्ज किए गए.

22 नवंबर 2016 से 11 अक्टूबर 2017 तक बचाव पक्ष ने 31 गवाहों के बयान दर्ज कराए. इसके साथ ही 225 दस्तावेज जारी किए. एससी-एसटी कोर्ट में 7 अप्रेल को बहस पूरी हो गई और कोर्ट ने फैसला सुनाने की तारीख 25 अप्रेल तय कर दी थी. पुलिस की चार्जशीट में आसाराम को नाबालिग छात्रा को समर्पित करवा कर यौन शोषण करने का आरोपी माना है.

पीड़िता की जुबानी, आसाराम की कहानी

यूपी के शाहजहांपुर की रहने वाली पीड़िता ने आईपीसी की धारा 164 के तहत अपना बयान दर्ज कराया था. पीड़िता की कहानी सुनकर हर किसी के रौंगटे खड़े हो गए. पुलिस की चार्जशीट में दर्ज पीड़ित लड़की का बयान दर्दनाक और खौफनाक है. इसके चलते ही आसराम अब तक जेल की चक्की पीस रहा है. आइए जानते हैं, पीड़िता की जुबानी, आसाराम की कहानी.

यह बात 6 अगस्त 2013 की है. आसाराम के गुरुकुल में पढ़ने वाली पीड़ित लड़की की तबीयत खराब होती है. उसके पेट में दर्द होता है. बाबा की एक साधक शिल्पी लड़की पर प्रेत का साया बताती है. वह पीड़िता से कहती है कि ये प्रेत आसाराम बापू ही दूर करेंगे. 14 अगस्त 2013 को पीड़ित लड़की को आश्रम में आसाराम के पास ले जाया जाता है.

आसाराम- हम तुम्हारा भूत उतार देंगे. तुम कौन सी क्लास में पढ़ रही हो

पीड़ित लड़की- बापू मैं सीए करना चाहती हूं.

आसाराम- सीए करके क्या करोगी तुम. बड़े से बड़े अधिकारी मेरे पैरों में पड़े रहते हैं. तुम तो बीएड करके शिक्षिका बनो. तुम्हें अपने गुरुकुल में शिक्षिका लगा दूंगा. इसके बाद में प्रिंसिपल भी बना दूंगा. अभी तुम पर भूत का साया है. तुम रात को वापस आओ. तुम्हारा भूत उतारूंगा.

पीड़ित लड़की- ठीक है बापू

इसके बाद पीड़िता वहां से चली जाती है. 15 और 16 अगस्त 2013 की दरम्यानी रात उसे कुटिया के अंदर बुलाया जाता है. कुटिया में रसोइया एक गिलास दूध लेकर आया. इसके बाद आसाराम ने लड़की के साथ वो किया, जो नहीं करना चाहिए था. आरोप है कि लड़की का यौन उत्पीड़न करने के बाद आसाराम ने उसको धमकी भी दी थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay