एडवांस्ड सर्च

जाकिर मूसा के भतीजे समेत 4 छात्र गिरफ्तार, JeM से जुड़े होने का शक

पंजाब और जम्मू-कश्मीर की पुलिस को बड़ी कामयाबी उस समय मिली जब उसने साझा ऑपरेशन के तहत जालंधर के एक संस्थान से जाकिर मूसा के भतीजे समेत 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. एक अन्य को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने गिरफ्तार किया है. माना जा रहा है कि ये किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे.

Advertisement
aajtak.in
कमलजीत संधू / खुशदीप सहगल/ सुरेंद्र कुमार वर्मा जालंधर , 11 October 2018
जाकिर मूसा के भतीजे समेत 4 छात्र गिरफ्तार, JeM से जुड़े होने का शक जालंधर से 3 छात्र गिरफ्तार (फोटो-एएनआई)

पंजाब पुलिस और जम्मू-कश्मीर पुलिस के अहम साझा ऑपरेशन में आतंकवादी संगठन से तार जुड़े होने के आरोप में 4 कश्मीरी छात्रों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें जाकिर मूसा का भतीजा यूसुफ रफीक भट्ट भी शामिल है. तीन की गिरफ्तारी पंजब पुलिस ने जबकि एक की गिरफ्तारी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने की.

जाकिर मूसा आतंकी संगठन अंसार गजवात-उल-हिन्द (AGH) का मुखिया है और सुरक्षा बलों की ‘मोस्ट वांटेड लिस्ट’ में शामिल है. पंजाब पुलिस और जम्मू-कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SoG) ने बुधवार तड़के साझा अभियान में जालंधर के पास शाहपुर में ‘CT इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी’ के छात्रावास के एक कमरे से एक असॉल्ट राइफल समेत दो हथियार और विस्फोटक बरामद किए.

यह कमरा बीटेक के दूसरे सेमेस्टर में पढ़ने वाले छात्र जाहिद गुलजार का था. यहां से यूसुफ रफीक भट्ट के साथ जाहिद गुलजार और मोहम्मद इदरीस को भी गिरफ्तार किया गया. इस मॉड्यूल के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से भी तार जुड़े होने का शक है.  इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस ने भी इस मॉड्यूल के एक आतंकी सोहैल को गिरफ्तार किया है. इस तरह के कुल 4 आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया, ‘ये छात्र जाकिर मूसा के आतंकी संगठन का हिस्सा हैं. जम्मू पुलिस की एक टीम पंजाब पुलिस के साथ साझा ऑपरेशन के लिए भेजी गई थी. दिलबाग के मुताबिक तीनों गिरफ्तार किए गए छात्रों से पूछताछ की जा रही है. उन्होंने कहा कि तीनों पर किसी बड़ी गतिविधि को अंजाम देने से जुड़े होने का शक है. साथ ही अवंतीपोरा में एक संदिग्ध हैंडलर को भी हिरासत में लिया गया है.

पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने बताया कि AGH से जुड़े टेरर मॉड्यूल के पर्दाफाश और हथियारों की बरामदगी से संकेत मिलता है कि पाक खुफिया एजेंसी ISI किस तरह भारत के पश्चिमी बॉर्डर से सटे क्षेत्र में गड़बड़ी फैलाने की फिराक में है. अरोड़ा के मुताबिक जांच से खुलासा हुआ है कि इस मॉड्यूल के जैश-ए-मोहम्मद से भी तार जुड़े हैं.

यूसुफ रकीफ भट्ट जाकिर मूसा के दिखाए आंतक के रास्ते पर चल निकला. बता दें कि मूसा ने भी चंडीगढ़ में इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी. मूसा जब चंडीगढ़ के रामदेवी जिंदल कॉलेज में तीसरे सेमेस्टर में पढ़ रहा था तो त्राल में अपने घर लौट गया था. मूसा पहले हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़ा लेकिन मतभेदों के चलते उसने फिर अपना आतंकी संगठन अंसार गजावत-उल-हिन्द बना लिया.

सूत्रों के मुताबिक मूसा के आतंकी संगठन का मंसूबा अपनी गतिविधियों के पंजाब में विस्तार का हो सकता है. ये गिरफ्तारियां ऐसे वक्त में हुई हैं जब ऐसी अटकलें जोरों पर हैं कि मूसा आतंकी संगठनों की आपसी लड़ाई में मारा गया हो सकता है. हालांकि डीजीपी ने इसे सब कयास ही कहा है, अभी तक मूसा के मारे जाने की पुष्टि नहीं हुई है.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि आगे जांच की जा रही है और पंजाब पुलिस पूरी साजिश को बेनकाब करने के लिए जम्मू और कश्मीर पुलिस के साथ मिल कर काम कर रही है. पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि इन आतंकी संगठनों का नेटवर्क जम्मू-कश्मीर और पंजाब में कहां तक फैला हुआ है?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay