एडवांस्ड सर्च

सुहागनों के खाते में विधवा पेंशन! योगी से जांच चाहते हैं पति

यूपी के सीतापुर जिले में विधवा पेंशन के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक आठ महीने पहले शादी हुई महिला के खाते में पेंशन का पैसा पहुंचने से हड़कंप मचा गया है.

Advertisement
शि‍वेंद्र श्रीवास्तव [Edited by: वरुण शैलेश]लखनऊ, 16 November 2018
सुहागनों के खाते में विधवा पेंशन! योगी से जांच चाहते हैं पति मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में विधवा पेंशन के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. रिपोर्ट के मुताबिक आठ महीने पहले शादी हुई महिला के खाते में पेंशन का पैसा पहुंचने से हड़कंप मचा गया है. जांच के मुताबिक ऐसी 22 महिलाओं के खाते में विधवा पेंशन का पैसा पहुंचा है जिनके पति अभी जीवित हैं. अब पति खुद के जीवित होने का सुबूत लेकर अफसरों के यहां दौड़ लगा रहा है.

शुरुआती जांच मे ये मामला दलालों के माध्यम से सरकारी योजनाओं के पैसे की बंदरबांट का लग रहा है. दरअसल, सीतापुर के संदीप कुमार महमूदाबाद ब्लॉक के जाफरपुर गांव में सफाई कर्मी हैं. आठ माह पूर्व जिले के परसेंडी ब्लॉक के शेरपुर सरांवा में रोहन लाल की पुत्री प्रियंका से उनकी शादी हुई थी.

जब संदीप ने ससुराल में अपनी पत्नी के बैंक खाते की डिटेल्स निकलवाई तो पता चला कि गत 28 सितंबर को पीएफएमएस (पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम) के जरिये तीन हजार रुपये भेजे गए थे. पूछताछ पर पता चला कि यह राशि प्रोबेशन विभाग से विधवा पेंशन के तौर पर भेजी गई है.

संदीप ने जिला प्रोबेशन अधिकारी को जानकारी दी कि उनके जीवित रहते हुए ही उनकी पत्नी के खाते में विधवा पेंशन भेजी जा रही है. जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो संदीप ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डीएम से शिकायत की. साथ ही कहा कि इस मामले पर उन्हें धमकियां मिल रही हैं.

इस पूरे मामले में सीडीओ संदीप कुमार ने बताया कि इस प्रकरण से संबंधित सभी दस्तावेजों को कब्जे में ले लिया गया है. आगे की जांच मे पता चला कि सीतापुर जिले के दो दर्जन खातों में पैसे ट्रॉसफर किए गए जबकि सभी खाताधारकों के पति अभी जिंदा हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay