एडवांस्ड सर्च

बेनिया बाग प्रदर्शन: पुलिस ने जारी किया पोस्टर, जानकारी देने पर मिलेंगे 5 हजार

उत्तर प्रदेश पुलिस ने वाराणसी के बेनिया बाग में बिना इजाजत प्रदर्शन करने वाले 19 लोगों की तस्वीर जारी की है. पुलिस ने इन लोगों के बारे में जानकारी देने वाले को 5 हजार रुपये इनाम देने का भी ऐलान किया है.

Advertisement
aajtak.in
रोशन जायसवाल वाराणसी, 24 January 2020
बेनिया बाग प्रदर्शन: पुलिस ने जारी किया पोस्टर, जानकारी देने पर मिलेंगे 5 हजार यूपी पुलिस

  • शाहीन बाग की तर्ज बेनिया बाग पर महिलाओं ने शुरू किया था प्रदर्शन
  • बिना इजाजत प्रदर्शन करने पर पुलिस ने की थी गिरफ्तार, हुआ था पथराव

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर वाराणसी के बेनिया बाग में हुए प्रदर्शन पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है. नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ बिना अनुमति प्रदर्शन करने वाले 19 लोगों की तस्वीर जारी की गई है और इन पर इनाम रखा गया है.

इन लोगों के बारे में जानकारी देने वाले को पुलिस 5 हजार रुपये का इनाम देगी. सरकारी काम मे बाधा डालने और पथराव करने वाले लोगों का जो पोस्टर जारी किया गया है, उसमें 13 पुरूष और 6 महिलाएं शामिल हैं. इन महिलाओं में एक 70 साल की बुजुर्ग महिला की भी तस्वीर शामिल है.

इसे भी पढ़ें: वाराणसी के बेनिया बाग में प्रदर्शन करने वालों पर केस

इनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता यानी आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 188, 114, 120B, 332 और 353 के तहत केस दर्ज किया गया है. इस पोस्टर में शामिल आरोपियों की जानकारी देने के लिए वाराणसी के पुलिस अधीक्षक नगर, क्षेत्राधिकारी देशाश्वमेघ, वाराणसी थाना चौकी के प्रभारी निरीक्षक, दशाश्वमेघ थाना के प्रभारी निरीक्षक और वाराणसी थाना चौकी के प्रभारी पियरी के मोबाइल नंबर के साथ ही वाराणसी पुलिस का व्हाट्सऐप नंबर भी जारी किया गया है.

1_012420071514.jpg

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज वाराणसी में गुरुवार को प्रदर्शन शुरू किया गया था. बेनिया बाग के गांधी चौराहे पर प्रदर्शन के दौरान महिलाओं ने मोदी सरकार से सीएए और एनआरसी को वापस लेने की मांग की थी.

इसे भी पढ़ें: योगी के यूपी में धरना मना है! CAA का विरोध कर रहीं 1200 से ज्यादा महिलाओं पर FIR

महिलाओं के प्रदर्शन की खबर पाकर मौके पर पुलिस पहुंच गई थी और प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया था. इसके बाद स्थानीय लोगों ने पत्थरबाजी की कोशिश की थी. इसके साथ ही बेनिया बाग को छावनी में बदल दिया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay