एडवांस्ड सर्च

हरिद्वार: देखभाल से परेशान बहनों ने डेढ़ साल के भाई को मारा, गंगा में बहाया

एक नाबालिग बहन ने डेढ़ साल के अपने सगे भाई को ही नींद की गोली खिला बैग में भरकर गंगा में बहा दिया. बताया जाता है कि माता और पिता दोनों ही काम पर चले जाते थे. मासूम के परेशान करने से आजिज आकर नाबालिग ने अपनी चचेरी बहन के साथ योजना बनाकर इस घटना को अंजाम दिया.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in हरिद्वार, 03 December 2019
हरिद्वार: देखभाल से परेशान बहनों ने डेढ़ साल के भाई को मारा, गंगा में बहाया प्रतीकात्मक चित्र

  • भाई की देखभाल को लेकर थीं परेशान
  • कनखल कांड से प्रेरित होकर दिया अंजाम

हरिद्वार के ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में बहन और भाई के पवित्र रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. एक नाबालिग बहन ने डेढ़ साल के अपने सगे भाई को ही नींद की गोली खिला बैग में भरकर गंगा में बहा दिया. बताया जाता है कि माता और पिता, दोनों ही काम पर चले जाते थे. मासूम के परेशान करने से आजिज आकर नाबालिग ने अपनी चचेरी बहन के साथ योजना बनाकर इस खौफनाक घटना को अंजाम दे दिया. पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के सहारे मामले का खुलासा किया है.

जानकारी के अनुसार ज्वालापुर के पीठ बाजार निवासी सोनू का पुत्र पिछले तीन दिन से लापता था. पिता की तहरीर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने टीम गठित कर मामले की जांच शुरू की. बताया जाता है कि डेढ़ वर्ष के अबोध बालक के माता पिता काम पर चले जाते थे, जिसके बाद इनकी देखभाल की जिम्मेदारी बहन की थी, वह स्कूल नहीं जाती थी और घर पर ही रहती थी. मासूम परेशान करता था और शौच आदि साफ करने से भी वह परेशान थी.

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

आजिज आकर दोनों बहनों ने भाई से छुटकारा पाने की योजना बना डाली. योजना के अनुसार दोनों ने डेढ़ वर्ष के भाई को 28 नवंबर की रात दूध में नींद की गोलियां मिलाकर पिला दीं और सुबह करीब पांच बजे बेसुध सो रहे भाई को एक बैग में डालकर दोनों बहनें साइकिल से गंगा के लाल पुल पर पहुंचीं. पुल पर पहुंचकर बहनों ने जिस बैग में भाई को रखा था, उसे गंगा नदी में फेंक दिया और लगभग 15 मिनट बाद वापस घर आ गईं. सुबह- सुबह बच्चे के लापता होने से हड़कंप मच गया.

पिता सोनू ने ज्वालापुरी कोतवाली पहुंचकर अपहरण की तहरीर दी, जिस पर हरकत में आई पुलिस ने तत्काल एक टीम गठित कर तहकीकात शुरू कर दी. तीन दिन तक खाली हाथ रही पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो दोनों बहनों की बैग लेकर जाते और खाली हाथ वापस आते फुटेज मिल गई.

शक के आधार पर पुलिस ने दोनों बहनों को हिरासत में लाकर जब कड़ाई से पुछताछ की तो उन्होंने पूरा घटनाक्रम बयान कर दिया. इस संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने बताया कि लगभग एक माह पहले कनखल क्षेत्र में एक मां ने ही अपने मासूम बेटे की हत्या कर दी थी. दोनों बहनों ने इसी घटना से प्रेरित होकर यह कदम उठाने की बात कही.

उन्होंने कहा कि दोनों ही नाबालिग हैं तो जुवेनाइल जस्टिस के सामने पेश कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. एसएसपी ने किसी तांत्रिक के एंगल को खारिज करते हुए कहा कि यह सिबलिंग लेवल का मामला लग रहा है. घटना के समय सभी सो रहे थे. दो बहनों के ही अपने भाई की हत्या को अंजाम देने की घटना से हर कोई हतप्रभ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay