एडवांस्ड सर्च

शिया वक्फ बोर्ड अध्यक्ष को मारने आया दाऊद का 1 और शूटर गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के एक और गुर्गे को गिरफ्तार किया है, जो यूपी शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी की हत्या करना चाहता था. पुलिस के मुताबिक आरोपी एक शार्प शूटर है. जिसकी पहचान मुज़ीर जिलानी शेख के रूप में हुई है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ पुनीत शर्मा/ अरविंद ओझा नई दिल्ली, 28 April 2018
शिया वक्फ बोर्ड अध्यक्ष को मारने आया दाऊद का 1 और शूटर गिरफ्तार पुलिस पकड़े गए शूटर से पूछताछ कर रही है

दिल्ली पुलिस ने मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के एक और गुर्गे को गिरफ्तार किया है, जो यूपी शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी की हत्या करना चाहता था. पुलिस के मुताबिक आरोपी एक शार्प शूटर है. जिसकी पहचान मुज़ीर जिलानी शेख के रूप में हुई है.

इससे पहले स्पेशल सेल ने वसीम रिजवी के कत्ल की साजिश रचने वाले दाऊद के तीन अन्य गुर्गों को गिरफ्तार किया था. जिनके पास से हथियार भी बरामद हुए थे. उन तीनों की पहचान आरिफ, अबरार और सलीम के रूप में की गई थी. पुलिस ने उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से तीनों को गिरफ्तार किया था. उन्हीं की निशानदेही पर पुलिस ने मुज़ीर को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने मुजीर के पास से हथियार भी बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार बदमाशों में से एक संदिग्ध दाऊद के सहयोगियों से मिलने के लिए हाल ही में दुबई भी गया हुआ था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुज़ीर को कोर्ट में पेश कर 10 दिन की रिमांड पर ले लिया है.

अब स्पेशल सेल की टीम मुज़ीर को लेकर मुंबई जाएगी और शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी की हत्या की साजिश में शामिल दाऊद के बाकी तमाम शूटर्स को गिरफ्तार करने की कोशिश करेगी. स्पेशल सेल के शिकंजे में आया मुज़ीर काफी शातिर बदमाश है.

पुलिस सूत्रों की मानें तो मुजीर के खिलाफ कई मुकदमे भी दर्ज हैं. वह पिछले काफी समय से दाऊद इब्राहिम के लिए काम कर रहा था. मुज़ीर स्पेशल सेल के लिए एक बड़ा कैच है. जिसके जरिए अब स्पेशल सेल दाऊद इब्राहिम के तमाम शूटर्स के बारे में जानकारी इकट्ठा कर रही है.

इससे पहले पुलिस ने जिन तीन लोगों को पकड़ा था, उन्होंने पूछताछ में बताया था कि दुबई में इन लोगों को वसीम रिजवी की हत्या की सुपारी दी गई थी. सुपारी की पहली पेमेंट के रूप में इन लोगों को 4000 दिरहम दिए गए थे. सुपारी की शेष राशि हत्या के बाद दी जानी थी.

गौरतलब है कि स्वामी चक्रपाणि की हत्या के लिए भी इसी तरह की साजिश तैयार की गई थी. आपको बता दें कि यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी अयोध्या में विवादित स्थल पर मंदिर बनाने जैसे विवादित बयान देते रहे हैं. रिजवी ने कुछ माह पहले ही अपनी जान को खतरा बताया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay