एडवांस्ड सर्च

नोएडा: गरीब और अनाथ की मदद के नाम पर ठगी करने वाला गैंग पुलिस गिरफ्त में

गरीब और अनाथ की मदद के नाम पर ठगी करने वाला गैंग पुलिस की गिरफ्त में, फर्जी कॉल सेंटर व फर्जी एनजीओ पर पुलिस का छापा. 5 महिलाओं समेत 13 आरोपी गिरफ्तार, सेंटर मालिक सहित अन्य एक फरार.

Advertisement
aajtak.in
तनसीम हैदर / श्याम सुंदर गोयल नई द‍िल्ली, 03 November 2018
नोएडा: गरीब और अनाथ की मदद के नाम पर ठगी करने वाला गैंग पुलिस गिरफ्त में पुल‍िस ग‍िरफ्त में आरोपी (Photo:aajtak)

उत्तर प्रदेश के नोएडा थाना 20 पुलिस और साइबर सेल टीम के हाथ ऐसा ही एक गैंग लगा है जो फर्जी एनजीओ और फर्जी कॉल सेंटर चलाकर लोगों को बैंकों में नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी किया करते थे. पुलिस ने गैंग के सरगना समेत 5 महिलाएं , 8 पुरुषों को गिरफ्तार किया है.

वहीँ, ये लोग मीडिया कर्मी बनकर लोगों पर रौब जमाकर अपना काम निकालते थे. पुलिस को इनके पास से 12 मोबाइल, 8 एटीएम, प्रेस आई कार्ड, लैपटॉप समेत 16 लाख 31 हजार रुपये बरामद किए हैं. फिलहाल पुलिस ने कार्यवाही पूरी कर इन सभी को जेल भेज दिया है. वहीं, इनके 2 साथी अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर हैं.

बैंकों में नौकरी दिलाने का सपना द‍िखाकर करते थे ठगी

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मुखबिर की सूचना पर नोएडा के सेक्टर 2 के डी-42 के ग्राउंड फ्लोर से वी केयर फाउंडेशन नाम का फर्जी एनजीओ चलाने वाले विकास गोस्वामी समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये लोग ऑनलाइन सूची निकाल कर लोगों को कॉल कर उनसे गरीब, अनाथ, ला-इलाज गरीबों की मदद करने के नाम पर पैसा ले लिया करते थे.

पुलिस को इस इमारत के प्रथम तल से फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले 5 महिलाएं और 8 पुरूष भी पकडे हैं, जो लोगों को बैंकों में नौकरी दिलाने के नाम पर उनके साथ ठगी किया करते थे. पुलिस अधिकारियों का कहना है, कि ये लोग कैरियर स्ट्रीट डॉट कॉम नाम से कॉल सेंटर चलाते थे और लोगों को कॉल करके बैंकों में नौकरी दिलाने का सपना दिखा कर अपना शिकार बनाया करते थे.

ऐसे करते थे ठगी

अधिकारियों का कहना है कि ये लोग पहले रिज्यूम बनाने के नाम पर 2650 रुपये लिया करते थे फिर फोन करके के बोलते थे कि आपका सेलेक्शन आईसीआईसीआई, एचडीएफसी बैंक आदि में हो गया है. फिर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के नाम पर 7 हजार रुपये वसूला करते थे. वहीँ, इस कॉल सेंटर का मालिक संजीव बोस व राहुल नाम का युवक अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर हैं. अधिकारी इन्हें भी जल्दी ही गिरफ्तार करने का दावा कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay