एडवांस्ड सर्च

मुंबई और बंगलुरु में जैविक हथियारों से हमला कर सकते हैं आतंकी

मुंबई और बंगलुरु में आतंकवादी जैविक हथियारों से हमला कर सकते हैं, इसका अलर्ट जारी किया गया है. बंगलुरु के रहने वाले एक शख्स ने पुलिस को सूचित किया है कि आतंकियों का एक समूह इस इन दोनों शहरों में हमले की बड़ी योजना बना रहा है. इस हमले में आतंकी जैविक हथियारों का इस्तेमाल कर सकते हैं.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार मुंबई, 09 May 2017
मुंबई और बंगलुरु में जैविक हथियारों से हमला कर सकते हैं आतंकी पुलिस को एक शख्स ने भेजा ईमेल

मुंबई और बंगलुरु में आतंकवादी जैविक हथियारों से हमला कर सकते हैं, इसका अलर्ट जारी किया गया है. बंगलुरु के रहने वाले एक शख्स ने पुलिस को सूचित किया है कि आतंकियों का एक समूह इस इन दोनों शहरों में हमले की बड़ी योजना बना रहा है. इस हमले में आतंकी जैविक हथियारों का इस्तेमाल कर सकते हैं.

ईमेल द्वारा मिली इस सूचना के बाद मुंबई और बंगलुरु में अलर्ट जारी कर दिया गया है. मुंबई में कई इकाइयां इस मामले की जांच कर रही हैं. इसमें मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच, आतंकवादी विरोधी दल, राज्य खुफिया इकाई और साइबर पुलिस स्टेशन शामिल हैं. इसी तरह बंगलुरु पुलिस कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी गई है.

पुलिस के मुताबिक, ईमेल भेजने वाले शख्स की पहचान दिलीप दास के रुप में हुई है. वह बंगलुरु का रहने वाला है. उसने मेल में लिखा है कि कुछ आतंकी समूह मुंबई और बंगलुरु को जैविक हथियार से निशाना बनाना चाहते हैं. जैविक हमले की वजह से उसे और उसके परिवार को खतरा है. वे लोग डर के साए में जी रहे हैं.

बताते चलें कि बैक्टीरिया, वायरस, विषाक्त पदार्थ, रसायन आदि अन्य जैविक एजेंट को मनुष्यों के खिलाफ जैविक हथियार के रूप में उपयोग किया जाता है. यह बहुत आधुनिक युद्ध तकनीक है. हथियार के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले रोगों में एंथ्रेक्स, ईबोला, मारबर्ग विषाणु, प्लेग, हैजा, जापानी बी इन्सेफेलाइटिस और चेचक शामिल है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay