एडवांस्ड सर्च

घर में जाने पर गेंद वापस नहीं देती थी वृद्धा, नाबालिग ने चाकू से गोद डाला

Elderly woman assault murder पुलिस को जांच के दौरान मृतका के घर की पिछली दीवार और छत पर खून के निशान मिले. खून वहीं धब्बे देखकर पुलिस छत के रास्ते कातिल यानी नाबालिग आरोपी के घर तक जा पहुंची.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर सीकर, 22 March 2019
घर में जाने पर गेंद वापस नहीं देती थी वृद्धा, नाबालिग ने चाकू से गोद डाला पुलिस ने नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है (सांकेतिक चित्र)

राजस्थान के सीकर में हत्या का एक हैरान कर देने वाला खौफनाक मामला सामने आया है. जहां एक नाबालिग लड़के ने मामूली सी बात पर नाराज होकर एक बुजुर्ग महिला को बेरहमी के साथ कत्ल कर दिया. आरोपी की उम्र केवल 15 साल है. उसने तेजधार चाकू से महिला पर दो दर्जन से ज्यादा वार किए और उसे मौत के घाट उतार दिया. आरोपी किशोर को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

ये खूनी वारदात सीकर के नायकों का मोहल्ला की है. जहां 65 वर्षीय रमा देवी रहती थी. उनके पड़ोस में ही 15 वर्षीय किशोर अपने नाना के साथ रहता था. बुधवार की शाम वृद्ध महिला अपने घर में अकेली थी. तभी नाबालिग लड़का महिला के घर में जा घुसा. इससे पहले बुजुर्ग महिला कुछ समझ पाती, उसने चाकू निकालकर महिला पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया.

लड़के के सिर पर खून सवार था. उसने वृद्धा के सिर, पेट, दोनों हाथों और पैरों पर एक बाद एक वार किए. महिला खून से लथपथ हो गई. उसने लड़के का विरोध करने की कोशिश भी की लेकिन घायल होने से वो बेहोश हो गई. पूरे घर में खून के निशान थे. आरोपी नाबालिग के कपड़े भी खून से सन गए.

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी किशोर बुजुर्ग महिला के घर के पीछे गैलरी में गया और दीवार पर चढ़कर पड़ोसी के मकान की छत से होते हुए अपने नाना के घर की छत पर जा पहुंचा. घर में जाकर उसने खून से सने कपड़े उतारे और उन्हें अपने बेड के नीचे छुपा दिया.

उधर, बुजुर्ग महिला को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू की. पुलिस को जांच के दौरान मृतका के घर की पिछली दीवार और छत पर खून के निशान मिले. खून वहीं धब्बे देखकर पुलिस छत के रास्ते कातिल यानी नाबालिग आरोपी के घर तक जा पहुंची.

पुलिस ने गुरुवार को 10वीं बोर्ड की परीक्षा देकर घर वापस लौट रहे छात्र को गिरफ्तार कर लिया. जब उससे पूछताछ की गई तो सारा मामला खुल गया. उसने पुलिस को बताया कि जब कभी खेलते वक्त उसकी गेंद या अन्य सामान बुजुर्ग महिला के घर में गिर जाता था, तो वो उसे वापस नहीं करती थी. ऐसा कई बार हो चुका था. लिहाजा यही बात किशोर को इतनी नागवार गुजरी कि उसने कत्ल जैसा खौफनाक कदम उठा लिया.

पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपी किशोर को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत किया, जहां से उसे बाल संप्रेषण गृह भेज दिया गया है. पुलिस के मुताबिक आरोपी किशोर बचपन से ही नायकों का मोहल्ला में अपने नाना के साथ रह रहा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay