एडवांस्ड सर्च

भाई की हत्या की पैरवी कर रहे PSP नेता के घर ताबड़तोड़ फायरिंग, घटना CCTV में कैद

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी  (लोहिया) के नोएडा महानगर अध्यक्ष शिवराम यादव के आवास पर अज्ञात बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग की. इसके बाद बाइक सवार बदमाश भाग निकले. 

Advertisement
तनसीम हैदर [Edited by: मलाइका इमाम]नोएडा, 15 April 2019
भाई की हत्या की पैरवी कर रहे PSP नेता के घर ताबड़तोड़ फायरिंग, घटना CCTV में कैद प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नोएडा महानगर अध्यक्ष शिवराम यादव

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी  (लोहिया) के नोएडा महानगर अध्यक्ष शिवराम यादव के नोएडा सेक्टर-70 स्थित आवास पर रविवार रात अज्ञात बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग की. बाइक पर आए बदमाश फायरिंग के बाद भाग निकले. घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. सूचना पाकर मौके पर पहुंची कोतवाली फेस-3 पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

बाइक सवार दो बदमाश प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नोएडा महानगर अध्यक्ष शिवराम यादव के सेक्टर-70 स्थित आवास पर पहुंचे और एक के बाद एक पांच गोलियां दाग कर भाग गए. आवास पर शिवराम यादव मौजूद नहीं थे. वारदात के समय वे और उनका परिवार उनके भाई के घर गए थे जो कि  बहलोलपुर में रहते हैं. उनके भाई के घर कुआं पूजन का आयोजन था. वारदात के समय आवास पर गार्ड मौजूद था, जिसने फायरिंग की जानकारी दी.

बता दें कि शिवराम यादव के भाई व भाजपा नेता शिव कुमार यादव की नवंबर 2017 में हत्या कर दी गई थी. आरोप है कि सुंदर भाटी गैंग के सदस्य व उसके भतीजे अनिल भाटी ने 10 लाख रुपये की सुपारी लेकर शार्प शूटरों से हत्या कराई थी. घटना के दौरान वह अपने स्कूल से चालक व निजी सुरक्षाकर्मी के साथ गाजियाबाद स्थित अपने आवास पर जा रहे थे. दोपहर करीब साढ़े तीन बजे बाइक सवार शार्प शूटरों ने पीछा कर तिगरी गांव के पास अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी थी. उनके साथ चालक व निजी सुरक्षाकर्मी की भी गोली लगने से मौत हो गई थी. उनकी अनियंत्रित कार की चपेट में आने से एक छात्रा की भी जान चली गई थी. शिवराम यादव इस हत्याकांड की पैरवी कर रहे हैं और कोर्ट में इसका ट्रायल चल रहा है.

शिवराम यादव अपने भाई की हत्या के बाद से ही पुलिस सुरक्षा की मांग करते आ रहे हैं. उनका कहना है कि हमलावरों ने फायरिंग कर घर की खिड़कियों में लगे शीशे तोड़ दिए हैं. उन्हें पूरा शक है कि हमलावर उनकी हत्या करने के इरादे से आए थे. इस दौरान घर पर कोई मौजूद नहीं था. अगर परिवार का कोई सदस्य होता तो उसकी जान भी जा सकती थी.

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अखिलेश त्रिपाठी का कहना है कि वे मामले की जांच कर रहे हैं. अभी पीड़ित की तरफ से कोई शिकायत नहीं मिली है. शिकायत के मुताबिक रिपोर्ट दर्ज कर हमलावरों की तलाश की जाएगी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay