एडवांस्ड सर्च

घूसकांड: छत्तीसगढ़ के प्रधान सचिव गिरफ्तार, घर से मिलीं 220 बैंक पासबुक

छत्तीसगढ़ के सीनियर आईएएस अधिकारी और राज्य के प्रधान सचिव बी.एल. अग्रवाल को सीबीआई ने हिरासत में ले लिया है. अग्रवाल को डेढ़ करोड़ रुपये घूस देने के मामले में हिरासत में लिया गया है. सीबीआई प्रधान सचिव से पूछताछ कर रही है.

Advertisement
aajtak.in
शि‍वेंद्र श्रीवास्तव/ सुनील नामदेव नई दिल्ली, 21 February 2017
घूसकांड: छत्तीसगढ़ के प्रधान सचिव गिरफ्तार, घर से मिलीं 220 बैंक पासबुक सीनियर IAS अधिकारी बी.एल. अग्रवाल राज्य में प्रधान सचिव के पद पर तैनात हैं

छत्तीसगढ़ के सीनियर आईएएस अधिकारी और राज्य के प्रधान सचिव बी.एल. अग्रवाल को सीबीआई ने हिरासत में ले लिया है. अग्रवाल को डेढ़ करोड़ रुपये घूस देने के मामले में हिरासत में लिया गया है. सीबीआई प्रधान सचिव से पूछताछ कर रही है.

सीबीआई की एक टीम मंगलवार सुबह प्रधान सचिव बी.एल. अग्रवाल को रायपुर से दिल्ली लेकर आई है. सीबीआई ने घूस देने के मामले में अग्रवाल और दो अन्य लोगों पर केस दर्ज किया है. फिलहाल बी.एल. अग्रवाल से पूछताछ जारी है.

आयकर विभाग दो बार कर चुका है रेड
बताते चलें कि आयकर विभाग इससे पहले बी.एल. अग्रवाल के ठिकानों पर साल 2008 और 2010 में छापेमारी कर चुका है. इस दौरान अग्रवाल के घर से आयकर विभाग को 220 बैंक पासबुक मिली थी. वहीं विभाग को अग्रवाल और उनके परिजनों के नाम पर 100 करोड़ रुपये से भी ज्यादा की संपत्ति दर्ज मिली थी.

बी.एल. अग्रवाल हो चुके हैं सस्पेंड
इन्हीं मामलों में अग्रवाल को सस्पेंड कर दिया गया था. जिसके बाद उन्होंने राज्य सरकार के इस फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. गौरतलब है कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में अग्रवाल ने जांच प्रभावित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को डेढ़ करोड़ रुपये रिश्वत देने की पेशकश की थी.

दो किलो सोना और कैश की रिश्वत
सूत्रों की मानें तो रिश्वत की यह रकम उन्होंने दो किलो सोने और कैश के रूप में दी थी. गौरतलब है कि दो दिन पहले ही सीबीआई ने बी.एल. अग्रवाल के घर पर छापेमारी की थी. इस दौरान उनके घर से सीबीआई द्वारा कुछ सीसीटीवी फुटेज जब्त किए जाने की बात सामने आई थी.

1988 बैच के IAS अधिकारी हैं बी.एल. अग्रवाल
बताते चलें कि बी.एल. अग्रवाल 1988 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. अग्रवाल के घर पर छापेमारी के दौरान सीबीआई ने रिश्वत की पेशकश मामले में अग्रवाल के साले और उनके साथी सुनील सोनी से भी पूछताछ की थी. आय से अधिक संपत्ति के एक मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो बी.एल. अग्रवाल को क्लीन चिट भी दे चुका है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay