एडवांस्ड सर्च

झारखंडः अंतरराष्ट्रीय पशु तस्करों का भंडाफोड़, बांग्लादेश भेज रहे थे गाय

जमशेदपुर से तकरीबन 80 किलोमीटर दूर झारखंड, ओडिशा और बंगाल की गुड़ाबांदा के पास सीमावर्ती इलाके से पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय पशु तस्कर को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने करीब 20 लाख लाख रुपये की कीमत की गाय और बैलों को बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक इन पशुओं को बंगाल के रास्ते बांग्लादेश भेजा जा रहा था.

Advertisement
aajtak.in
सत्यजीत कुमार जमशेदपुर, 17 October 2019
झारखंडः अंतरराष्ट्रीय पशु तस्करों का भंडाफोड़, बांग्लादेश भेज रहे थे गाय बरामद मवेशियों को गोशाला में भेजा गया (फोटो-सत्यजीत कुमार)

  • करीब 50 से ज्यादा मवेशियों को तस्करी से बचाया
  • तस्करी का एक आरोपी गिरफ्तार, बाकी हो गए फरार

जमशेदपुर से तकरीबन 80 किलोमीटर दूर झारखंड, ओडिशा और बंगाल की गुड़ाबांदा के पास सीमावर्ती इलाके से पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय पशु तस्कर को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने करीब 20 लाख लाख रुपये की कीमत की गाय और बैलों को बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक इन पशुओं को बंगाल के रास्ते बांग्लादेश भेजा जा रहा था.

जमशेदपुर जिला पुलिस ने इन तस्करों को पकड़कर तकरीबन 50 से ज्यादा मवेशियों को तस्करी होने से बचा लिया. साथ ही पुलिस ने अपनी कड़ी निगरानी में सभी जब्त मवेशियों को चाकुलिया गौशाला में पहुंचा दिया है.

क्या था पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक गुड़ाबांदा थाना क्षेत्र नक्सल प्रभावित है. ये इलाका बंगाल, ओडिशा के बॉर्डर से लगता है जिसकी वजह से पशु या सुनसान रास्ते से तस्करी करना तस्करों को आसान लगता है. पुलिस को कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि गाय और बैलों को ओडिशा के रास्ते से ले जाकर पहले झारखंड के गुड़ाबांदा इलाके में लाया जा रहा है.

बताया जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय पशु तस्कर वहां से बंगाल के चिंगड़ा इलाके से पैदल ले जा रहे थे और फिर वहां से बांग्लादेश भेजा जा रहा था. मंगलवार रात  करीब दो बजे गुड़ाबांदा पुलिस को जानवरों के आने की सुचना मिली. पुलिस ने पूरी घेराबंदी कर सभी गायों को जब्त कर लिया. पुलिस ने उनमें से एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं बाकी पांच आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए.

बड़ी तादाद में  गाय और बैल बरामद

पुलिस के मुताबिक पहली बार इतनी बड़ी तादाद में गाय और बैलों को बरामद किया गया है. वहीं विश्व हिन्दू परिषद के जमशेदपुर जिला अध्यक्ष चंद्रदेव महतो का कहना है की जानवरों की अंतरराष्ट्रीय तस्करी का यह एक नया कॉरिडोर गुड़ाबांदा थाना बन रहा है.

जहां ओडिशा के रास्ते से पैदल ही ये लोग पहले झारखंड में प्रवेश करते हैं. फिर बंगाल के चिंगड़ा ले जाते हैं वहां से बड़े-बड़े वाहनों में जानवारों को लादकर कर बांग्लादेश भिजवाया जाता है. गुड़ाबांधा थाने के एएसआई अशोक कुमार ने बताया कि सूचना इस बार पुख्ता थी जिसपर कार्रवाई की गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay