एडवांस्ड सर्च

मैं शिकायत करने में यकीन नहीं रखताः आशीष चौधरी

सेलिब्रिटी डांस रियलिटी शो झलक दिखला जा से बाहर हो चुके ऐक्टर आशीष चौधरी से बातचीत के प्रमुख अंश.

Advertisement
aajtak.in
नरेंद्र सैनी [Edited by: दीपिका शर्मा]नई दिल्ली, 01 September 2015
मैं शिकायत करने में यकीन नहीं रखताः आशीष चौधरी आशीष चौधरी

सेलिब्रिटी डांस रियलिटी शो झलक दिखला जा से बाहर हो चुके ऐक्टर आशीष चौधरी से बातचीत के प्रमुख अंश.

झलक का सफर कैसा रहा?
जब झलक दिखला जा शुरू हुआ था तो मैं बहुत नर्वस था. मैंने शो सिर्फ करन जौहर के कहने पर किया था और मैं कलर्स चैनल के साथ कंफर्टेबल था. मुझे यह करने में मजा आने लगा था. यह सफर बहुत थका देने वाला था.

अपने साथ हुए हादसे के बारे में बताएं?
हमारे शो में मकेनिकल साजोसामान नहीं रहता है. चार-पांच लोग उस हारनेस को खींच रहे थे जिस पर मैं लटका हुआ था. जब मैं हवा में था तो दो लोग फिसल गए. मैं अचानक नीचे आ गया लेकिन कोई चोट नहीं लगी. मेरा समय खराब चल रहा था, उन्होंने मुझे गलत समय पर उठाया और आखिर में वे अपना पूरा कंट्रोल ही खो बैठे. मेरे एक्ट का आधा हिस्सा एरियल था और वह पूरी तरह खराब हो गया. मेरी हालत बिना सहारे के बंदर जैसी हो गई. मैं और मेरा कोरियोग्राफर कुछ नहीं कर सकते थे क्योंकि सारा काम दूसरे लोगों के हाथ में था. लेकिन वे नियंत्रण नहीं कर सके. मुझे पता था कि मैं बाहर हो जाऊंगा. लेकिन मेरी डांसिंग शुरू से लेकर आखिर तक सही रही, यही मेरे लिए खुशी की बात है. अगर मैं अपनी परेशानियों की बात करता तो यह लूजर वाली बात होती. मैं शिकायत करने में यकीन नहीं रखता. मैं सिर्फ इसलिए बात कर रहा हूं क्योंकि मैं अपने फैन्स को बताना चाहता हूं कि मेरे साथ क्या हुआ. उन्हें पता चलना चाहिए कि मैं एकदम सही था लेकिन हारनेस मेरे काबू में नहीं था.

आपको लगता है आपके साथ सही हुआ? जजों का फैसला सही था?
यह खेल है, इसके नियम नहीं तोड़े जा सकते. मुझे नियमों का पालना करना था . मैं तो बस यही कह सकता हूं कि इस तरह की समस्या नहीं आनी चाहिए थी. जजों के हाथ भी नियमों से बंधे थे. फॉर्मेट की वजह से मेरे कोरियोग्राफर के चोटिल होने के बावजूद मुझे सेकंड चांस नहीं मिला था.

झलक ने आपको क्या सिखाया?
फियर फैक्टर ने सिखाया कि अपने डरों से ऊपर आना चाहिए. मेरे लिए, अगर खतरों का खिलाड़ी डर से उबरने के लिए था तो झलक ने मुझे अपने जीवन के सबसे बड़े डर डांसिंग से उबारा है. इसने मुझे सिखाया कि स्टेज पर जाओ और जी खोल कर डांस करो. अब मैं बिना किसी डर के स्टेज पर डांस कर सकता हूं.

जजों के बारे में बताएं?
कई लोगों ने कहा कि जजों को मुझ से दिक्कत थी सिर्फ करन को छोड़कर. मुझे हमेशा लगा कि वे मुझसे और मेहनत चाहते हैं कि ताकि मैं और मेहनत करूं. मैंने हर किसी में पॉजिटिव देखने की कोशिश की. गणेश थोड़े सख्त जज थे और वे मुझे लेकर हमेशा काफी खामियां निकालते थे. मैं उन्हें इम्प्रेस करने की कोशिश करता था. जब शो पर मेरा सफर खत्म हुआ तो वे मेरे पास आए और बोले की मैं अच्छा कर रहा था. मुझे अच्छा लगा कि उन्होंने मेरी ग्रोथ को पहचाना. लॉरेन बेशक मार्क्स को लेकर मेरी प्रति बहुत नरम नहीं रही हैं. लेकिन मैं जानता हूं कि वे मुझे अच्छा करता देखना चाहती थीं. जब हारनेस संबंधी समस्या आई तो वे गुस्से में उन लोगों के पास गई और उन्हें काफी लताड़ा. लॉरेन ने मुझसे दो बार बात की और कहा कि उन्हें मुझे बाहर करते हुए खराब लग रहा है. उन्होंने मुझे क्या अंक दिए इसकी परवाह नहीं लेकिन वे मुझे पसंद करती थीं. शाहिद भी मेरी तारीफ करते थे. करन तो थे ही अच्छे.

अपने बाकी साथियों के बारे में क्या कहना है?
शो में हिस्सा लेने वाले भागी कंटेस्टेंट मेरे लिए परिवार जैसे थे. ऐसा ही खतरों के खिलाड़ी में भी था. झलक खत्म होते ही मैं उनसे मिला. दोस्त बनाना ही मेरी झलक की कमाई है.

झलक की कौन-सी चीज आप सबसे ज्यादा मिस करेंगे?
मैं अपनी कोरियोग्राफर फैलन को सबसे ज्यादा मिस करूंगा. रूषाली और फैलन ने मेरे लिए बहुत मेहनत की.

अब आगे क्या करेंगे?
मैंने ये शो सिर्फ इसलिए कि क्योंकि मैं इन्हें लेकर एक्साइटेड था. मेरी पसंद तो फिक्शन है. रियलिटी शो बहुत हो चुके हैं. मैं दोबारा ऐक्टिंग की ओर लौटना चाहता हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay