एडवांस्ड सर्च

बंगलुरुः एनआईए के हाथ आया अलकायदा का संदिग्ध

बंगलुरु से अलकायदा का एक संदिग्ध गिरफ्तार किया गया है. मौलाना अंजर शाह नामक यह संदिग्ध भारत में अलकायदा के लिए काम कर रहा था.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर बंगलुरु, 08 January 2016
बंगलुरुः एनआईए के हाथ आया अलकायदा का संदिग्ध अंजर शाह से पहले भी अलकायदा के तीन संदिग्ध पकड़े जा चुके हैं

आतंकी संगठन अलकायदा का एक संदिग्ध बंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया गया. मौलाना अंजर शाह नामक यह संदिग्ध भारत में अलकायदा के स्लीपर सेल से जुड़ा हुआ है. उसे आतंकी संगठन ने अहम काम सौंपा था.

भारत में यह अलकायदा से जुड़ी चौथी गिरफ्तारी है. इससे पहले भी इस आतंकी संगठन के तीन संदिग्ध गिरफ्तार किए जा चुके हैं. मौलाना अंजर शाह को एनआईए की एक टीम ने बुधवार को बंगलुरु के जयनगर से उस वक्त गिरफ्तार कर लिया, जब वह पहले गिरफ्तार किए जा चुके आसिफ के घर गया था.

शाह से पहले भी चार संदिग्ध गिरफ्तार किए गए हैं

सूत्रों के मुताबिक मौलाना अंजर भारत में अलकायदा को स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा था. उसके कंधों पर संगठन में नौजवानों को भर्ती करने की जिम्मेदारी भी थी. आसिफ से शाह से की मुलाकात एक धार्मिक आयोजन में हुई थी.

उसकी गिरफ्तारी का खुलासा गुरुवार की शाम को हुआ, जब मौलाना अंजर शाह को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया. अलकायदा के इस संदिग्ध आतंकी को अदालत ने 20 जनवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

सूत्रों ने जानकारी मिली है कि मौलाना अंजर शाह भारतीय उपमहाद्वीप के अलकायदा चीफ आसिम उमर से भी जुड़ा हुआ था. मौलाना की गिरफ्तारी के साथ ही भारतीय उपमहाद्वीप में अलकायदा के चार आतंकियों को पकड़ा जा चुका है.

गौरतलब है कि सबसे पहले अलकायदा के संदिग्ध मोहम्मद आसिफ को यूपी के संभल से पकड़ा गया था. उसके बाद जफर मसूद और अब्दुल रहमान नामक संदिग्ध गिरफ्तार किए गए थे. भारतीय उपमहाद्वीप में अलकायदा का गठन सितम्बर 2014 में किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay