एडवांस्ड सर्च

नाभा जेल ब्रेक केस का मुख्य आरोपी अमनदीप सिंह ढोतिया गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने पिछले साल नाभा में जेल तोड़कर फरार हुए मुख्य आरोपी अमनदीप सिंह ढोतिया को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस को सूचना मिली थी कि अमनदीप अपहरण की योजना बना रहा है. जैसे ही वह शहर के पीएपी चौक पहुंचा, पुलिस ने उसे दबोच लिया. उसके पास से हथियार भी बरामद हुए हैं. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार जालंधर, 02 April 2017
नाभा जेल ब्रेक केस का मुख्य आरोपी अमनदीप सिंह ढोतिया गिरफ्तार जेल तोड़कर फरार हुआ आरोपी गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने पिछले साल नाभा में जेल तोड़कर फरार हुए मुख्य आरोपी अमनदीप सिंह ढोतिया को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस को सूचना मिली थी कि अमनदीप अपहरण की योजना बना रहा है. जैसे ही वह शहर के पीएपी चौक पहुंचा, पुलिस ने उसे दबोच लिया. उसके पास से हथियार भी बरामद हुए हैं. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

जालंधर के निवर्तमान पुलिस आयुक्त अर्पित शुल्का ने बताया कि एक सूचना के आधार पर पुलिस ने शनिवार की देर रात पंजाब आर्म्ड पुलिस (पीएपी) परिसर के पास से अमनदीप सिंह ढोतिया को गिरफ्तार किया गया. उसके पास से .32 बोर की 1 देसी पिस्तौल, 1 मैगजीन, 7 कारतूस, 1 मोबाइल, 4 सिम कार्ड और 5 हजार रुपये बरामद हुए हैं.

बताते चलें कि पिछले साल नवंबर में पंजाब के पटियाल की नाभा जेल तोड़कर चार अपराधी और दो आतंकवादी फरार हो गए थे. इनमें से चार को गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन खालिस्तानी आतंकवादी कश्मीर सिंह और अपराधी विक्की गोर्डा अब भी फरार हैं. पुलिस की वर्दी में आए बदमाशों ने फायरिंग करके वारदात को अंजाम दिया था.

27 नवंबर, 2016 की सुबह 9 बजे पर मुख्य गेट पर दो गाड़ियां आकर रूकी. इनमें पुलिस की वर्दी में लोग बैठे थे. गेट के संतरी ने दरवाजा खोल दिया. दो लोग गाड़ी से उतरे. उनमें से एक ने संतरी को काबू कर लिया, तो दूसरे ने एक दूसरे जवान को काबू में कर लिया. पहले से तैयार आतंकियों और गैंगस्टरों को मैसेज दे दिया कि वे बाहर निकले.

पिस्टल से फायरिंग कर तोड़ा ताला
आतंकी मिंटू और दूसरे कैदी तैयार हो गए. डीओडी पर मुंशी, दरबान और समन काटने वाले पुलिसकर्मी बैठे थे, बदमाशों ने उनको भी काबू में कर लिया. इधर बीच वाले गेट पर बदमाशों की गाड़ियां पहुंच चुकी थी. वह लोग गेट के नीचे से पिस्टल फेंक दिए. अंदर मौजूद कैदी उसी पिस्टल से फायर कर ताला तोड़कर वहां से फरार हो गए.

ऐसे तैयार हुआ जेल ब्रेक का ब्लूप्रिंट
बताया कि पुलिस की वर्दी में आए हर बदमाश के पास दो-दो पिस्टल और पर्याप्त गोलियां थी. इनमें से 6 लोग अमृतसर से, 2 होशियारपुर से, 2 चंडीगढ़ से और 2 लोग फिरोजपुर से आए थे. बदमाशों ने एक रात पहले मोगा जिले के गांव मांगेवाल में जेल ब्रेक का ब्लूप्रिंट तैयार किया था. इसके बाद वारदात को अंजाम दिया गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay