एडवांस्ड सर्च

MP: छेड़खानी से तंग आकर नाबालिग छात्रा ने की खुदकुशी

मध्य प्रदेश के सिवनी में बंडोल थाना क्षेत्र के बाधी गांव की रहने वाली 10वीं की छात्रा ने छेड़खानी से तंग आकर जहर पीकर खुदकुशी कर ली. गांव के ही रहने वाले लक्ष्मण नाम के एक व्यक्ति पर लड़की से छेड़खानी का आरोप है.

Advertisement
aajtak.in
पुनीत शर्मा/ आशुतोष कुमार मौर्य सिवनी, 12 January 2018
MP: छेड़खानी से तंग आकर नाबालिग छात्रा ने की खुदकुशी परिजनों का आरोप गांव की ही एक लड़का करता था तंग

महिलाओं के साथ रेप के मामले में देश के अव्वल राज्य मध्य प्रदेश से एक नाबालिग छात्रा के छेड़खानी से परेशान होकर खुदकुशी करने की घटना सामने आई है. पुलिस ने छात्रा के शव के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है. परिजनों के बयान और सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है.

पुलिस ने बताया कि मध्य प्रदेश के सिवनी में बंडोल थाना क्षेत्र के बाधी गांव की रहने वाली 10वीं की छात्रा ने छेड़खानी से तंग आकर जहर पीकर खुदकुशी कर ली. गांव के ही रहने वाले लक्ष्मण नाम के एक व्यक्ति पर लड़की से छेड़खानी का आरोप है.

पुलिस ने बताया कि पीड़िता ने हालांकि सुसाइड नोट में अपनी मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है. वहीं परिजनों ने आरोप लगाया है कि गांव का ही एक लड़का उनकी बेटी को स्कूल आने-जाने के दौरान परेशान करता था, जिससे परेशान होकर उनकी बेटी ने खुदकुशी की है.

पुलिस ने बताया कि लड़की के माता-पिता खेत पर गए हुए थे. इस बीच लड़की ने घर पर जहर पी लिया. माता-पिता जब घर पहुंचे और लड़की की हालत खराब देखी तो तुरंत उसे लेकर जिला अस्पताल गए. हालांकि लड़की की जान नहीं बचाई जा सकी.

पीड़िता की मां का कहना है कि गांव का ही एक लड़का लक्ष्मण उनकी बेटी को परेशान करता रहता था. बेटी ने उन्हें इस बारे में बताया भी था. आरोपी लड़का स्कूल आने-जाने के दौरान पीड़िता से छेड़खानी किया करता था. पीड़िता की मां का कहना है कि आरोपी रात के वक्त भी घर के आस-पास घूमता रहता था.

वहीं पीड़िता के पिता ने बताया कि उनकी बेटी मुंगवानी गांव के सरकारी स्कूल में 10वीं क्लास में पढ़ती थी और रोज साइकिल से ही आना जाना करती थी. उसने बताया था कि एक लड़का बहुत परेशान करता था आते जाते. और घर के आस-पास भी घूमता था. उन्होंने बताया कि लड़का गांव का ही रहने वाला है और उसका नाम लक्ष्मण सनोड़िया है.

बता दें कि लड़की ने सुसाइड नोट में लिखा है कि उसे गांव के किसी व्यक्ति या किसी अन्य व्यक्ति ने परेशान नहीं किया. गांववालों की कोई गलती नहीं है, किसी ने परेशान नहीं किया और वह खुद अपनी मर्जी से खुदकुशी कर रही है.

सिवनी के SDOP एसएस पाठक ने बताया कि परिजनों के बयान और सुसाइड नोट के आधार पर केस दर्ज कर बंडोल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. परिजनों ने गांव के जिस व्यक्ति पर आरोप लगाए हैं, उसके खिलाफ भी जांच की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay