एडवांस्ड सर्च

बच्चों को आतंक की आग में झोंक रहे हैं नक्सली और आतंकी संगठन

नक्सलियों के अलावा आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन बच्चों को आतंक की आग में झोंक रहे हैं. इस बात का खुलासा राज्यसभा में गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने अपने लिखित जवाब में किया है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ जितेंद्र बहादुर सिंह नई दिल्ली, 25 July 2018
बच्चों को आतंक की आग में झोंक रहे हैं नक्सली और आतंकी संगठन  सरकार नक्सलियों और आतंकियों की इस साजिश को नाकाम करने की कोशिश कर रही है

नक्सलियों के अलावा आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन बच्चों को आतंक की आग में झोंक रहे हैं. इस बात का खुलासा राज्यसभा में गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने अपने लिखित जवाब में किया है. हालांकि उन्होंने कहा है कि अभी तक ऐसी जानकारी सामने नहीं आई है कि नक्सली और आतंकी संगठन बच्चों को मानव बम के रूप में इस्तेमाल कर रहे हों.

राज्यसभा सांसद अमर सिंह के सवाल का जवाब देते हुए प्रश्नकाल के दौरान गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने जानकारी देते हुए कहा कि नक्सल प्रभावित राज्यों में नक्सली गांव में बच्चों को अपनी लड़ाई से जोड़ रहे हैं. इसमें झारखंड, बिहार और छत्तीसगढ़ भी शामिल है.

गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने यह भी जानकारी दी कि सिर्फ नक्सली ही नहीं आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन भी बच्चों को अपने चंगुल में फंसा रहे हैं. हालांकि अभी तक बच्चों को मानव बम बनाने की ऐसी को बात सामने नहीं आई है.

रिजिजू ने सदन में भरोसा दिलाया कि सरकार इस खतरनाक ट्रेंड को रोकने के लिए पूरी कोशिश कर रही है. नक्सल प्रभावित इलाकों में स्कूल की पढ़ाई से लेकर कौशल विकास पर सरकार ने ज्यादा ध्यान दिया है.

आजतक ने किया था नक्सलियों के भर्ती अभियान का खुलासा

छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, झारखंड और तेलंगाना जैसे अलग-अलग राज्यों में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन प्रहार के बाद सैकड़ों की संख्या में नक्सलियों को इस साल सुरक्षाबलों ने ढेर किया है. बौखलाए नक्सली जहां एक तरफ सुरक्षाबलों के खिलाफ हमला करने का प्लान तैयार कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ नक्सली कमांडर अलग-अलग राज्यों में नए नक्सली रंगरूट का भर्ती अभियान शुरू कर रखा है.

आजतक मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक नक्सली कमांडर उड़ीसा के मलकानगिरि के जंगलों में नये नक्सली रंगरूट की भर्ती करने में जुटे हुये हैं. ख़ुफ़िया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ हाल ही में 12 वीं क्लास में जाने वाले 6 युवाओं को नक्सलियों ने गुरिल्ला वॉर करने के लिए नक्सली ग्रुप में शामिल किया है.

सुरक्षा बलों ने गृह मंत्रालय को ये जानकारी भी दी है कि नक्सली कमांडर उड़ीसा के मलकानगिरि, रायगड़ा, कालाहांडी और नयागढ़ के जंगलों में युवाओं को नक्सली बनाने के लिए भर्ती अभियान शुरू किया है. इस भर्ती अभियान में युवाओं को रिझाने के लिए डांस प्रोग्राम का भी आयोजन कर रहे है.

जानकारी के मुताबिक इस तरीके के डांस प्रोग्राम के जरिये जब भोले भाले आदिवासी युवा इक्कठा होते हैं तो उनको वहाँ पर मौजूद नक्सली कमांडर जो पीएलजीए का पार्ट होता है, वो इनका ब्रेनवाश करता है. जिसके बाद भोले भाले युवा नक्सली बनने के लिए तैयार हो जाते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay