एडवांस्ड सर्च

मणिपुर: तेज रफ्तार कार से पुलिसकर्मियों को रौंदा, मंत्री का बेटा गिरफ्तार

मणिपुर के वन और पर्यावरण मंत्री श्याम कुमार के बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी सत्यजीत पर तेज गाड़ी चलाने और दो पुलिसकर्मियों को ऑन ड्यूटी घायल करने का आरोप है. पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 353, 279 और 338 के तहत केस दर्ज किया है.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार/ मनोज्ञा लोइवाल कोलकाता, 10 June 2018
मणिपुर: तेज रफ्तार कार से पुलिसकर्मियों को रौंदा, मंत्री का बेटा गिरफ्तार वन और पर्यावरण मंत्री का बेटा गिरफ्तार

मणिपुर के वन और पर्यावरण मंत्री श्याम कुमार के बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी सत्यजीत पर तेज गाड़ी चलाने और दो पुलिसकर्मियों को ऑन ड्यूटी घायल करने का आरोप है. पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 353, 279 और 338 के तहत केस दर्ज किया है. उसको इम्फाल में कोर्ट में पेश किया गया, जहां उसे पुलिस हिरासत में भेज दिया गया.

जानकारी के मुताबिक, यह घटना शुक्रवार दोपहर इम्फाल में एमजी एवेन्यू की व्यस्त सड़क पर हुई. उस वक्त एक पुलिस वैन ने काले रंग होंडा सिटी कार का पीछा किया. कार ड्राइवर तेजी से हाईवे की तरफ बढ़ा. पुलिस ने वायरलेस पर मैसेज कर दिया, जिसकी वजह से एक दूसरी कार हाईवे से पहले ही आरोपी की कार को घेर लिया. उसे रोकने की कोशिश करने लगे.

कार सवार ने रोकने की बजाए स्पीड को और तेज कर दिया. वहां खड़े पुलिसकर्मियों को घायल करते हुए आगे निकल गया. इस घटना में अपनी ड्यूटी पर तैनात दो पुलिसकर्मी 41 वर्षीय टी अखुप कॉम और 28 वर्षीय निंगथौजम अनिलकुमार गंभीर रूप से घायल हो गए. दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस आरोपी कार सवार के पीछे पड़ी रही.

तेजी से भागते हुए कार सवार वन और पर्यावरण मंत्री श्याम कुमार के घर के सामने जाकर रुका. पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेर लिया. उसे उसकी पहचान दिखाने के लिए कहा गया, लेकिन उसने मना कर दिया. इसके बाद पुलिस ने कार से खींचकर उसे बाहर निकाला, तो पता चला कि वह मंत्री श्याम कुमार का बेटा सत्यजीत है. इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

वन और पर्यावरण मंत्री श्याम कुमार के घर के बाहर से पुलिस उनके बेटे सत्यजीत को गिरफ्तार करके थाने लाई. तेज गाड़ी चलाने और ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों की जान खतरे में डालने के आरोप में उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 353, 279 और 338 के तहत केस दर्ज किया गया. कोर्ट के आदेश के बाद आरोपी से पुलिस हिरासत में पूछताछ की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay