एडवांस्ड सर्च

गणतंत्र दिवस से पहले महाराष्ट्र ATS के छापे, ISIS के 9 संदिग्ध गिरफ्तार

Maharashtra ATS ISIS Connection महाराष्ट्र एटीएस ने मंगलवार को नौ लोगों को गिरफ्तार किया है. इन सभी का ISIS से कनेक्शन होने की बात सामने आ रही है. ATS काफी लंबे समय से इनपर नजर बनाए हुए थी.

Advertisement
aajtak.in
साहिल जोशी / दिव्येश सिंह मुंबई, 23 January 2019
गणतंत्र दिवस से पहले महाराष्ट्र ATS के छापे, ISIS के 9 संदिग्ध गिरफ्तार Representational Photo

महाराष्ट्र एटीएस (एंटी टेरर स्क्वॉड) ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए नौ लोगों को गिरफ्तार किया है. इन सभी आरोपियों का आतंकी संगठन ISIS से कनेक्शन बताया जा रहा है, इसी शक में इन्हें गिरफ्तार किया गया है. महाराष्ट्र एटीएस ने पांच लोगों को औरंगाबाद और चार लोगों को ठाणे जिले से गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि ये सभी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए ISIS के संपर्क में थे और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल थे.

महाराष्ट्र एटीएस बीते लंबे समय से इन सभी पर नजर बनाए हुए थी और अब इनपर कार्रवाई की गई. एटीएस को शक था कि ये ग्रुप राज्य में किसी बड़े आतंकी हमले की साजिश रच रहे थे, मंगलवार देर रात को एटीएस ने इन्हें गिरफ्तार किया. इन सभी नौ व्यक्तियों को आज कोर्ट में पेश किया जा सकता है.

सूत्रों की मानें तो ये ग्रुप लगातार सोशल मीडिया पर ऐसी एक्टविटी कर रहे थे जो ISIS से प्रभावित थीं. इन सभी से अभी पूछताछ की जा रही है, अभी तक पहले राउंड की पूछताछ हुई है. सूत्रों की मानें तो अभी महाराष्ट्र एटीएस इस मामले में और भी कई गिरफ्तारियां कर सकती हैं.

जिन नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है उनमें मोहसिन खान, ताकी खान (दोनों भाई) हैं, जिनके पास कुछ हार्ड-डिस्क भी हैं. सरफराज अहमद, मजहर शेख, मुशैद अल इस्लाम भी इनमें शामिल हैं, इन सभी को औरंगाबाद से गिरफ्तार किया गया है.

पहले उत्तर प्रदेश-दिल्ली में हुई थी ऐसी गिरफ्तारियां

गौरतलब है कि बीते साल इसी प्रकार का मामला उत्तर भारत में भी आया था. जब उत्तर प्रदेश एटीएस ने दिल्ली पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाते हुए दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में छापेमारी की थी. तब भी एटीएस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया था और उनपर ISIS मॉड्यूल पर आधारित एक संगठन को चलाने की बात कही थी.

दिसंबर, 2018 में NIA और यूपी एटीएस ने अमरोहा, मेरठ, जाफराबाद जैसे इलाकों में छापेमारी की थी. यहां से बम, बंदूक और बम बनाने की सामग्री भी बरामद हुई थी. हालांकि, ये मसला भी अभी कोर्ट में चल रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay