एडवांस्ड सर्च

कानपुर गोलीकांड के बाद जागी पुलिस, बनाई यूपी के 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट

योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने शनिवार को प्रदेश के 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट बनाई है. इसमें मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, ब्रजेश सिंह जैसे अपराधियों का नाम है.

Advertisement
aajtak.in
कुमार अभिषेक लखनऊ, 04 July 2020
कानपुर गोलीकांड के बाद जागी पुलिस, बनाई यूपी के 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट लिस्ट में अतीक अहमद का नाम (फाइल फोटो- PTI)

  • यूपी पुलिस की लिस्ट में अतीक अहमद, मुख्तार अंसारी का नाम
  • मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब के रोपड़ जेल में बंद
  • अतीक अहमद अहमदाबाद की जेल में है बंद

उत्तर प्रदेश के कानपुर गोलीकांड के बाद सूबे की पुलिस जाग गई है. योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने प्रदेश के 33 टॉप मोस्ट अपराधियों की लिस्ट बनाई है. इसमें मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, ब्रजेश सिंह जैसे अपराधियों का नाम है. इसके अलावा लिस्ट में सुंदर भाटी, अनिल दुजाना, अनिल भाटी, अमित कसाना, उमेश राय, बब्बू श्रीवास्तव जैसे अपराधियों का नाम है.

मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब के रोपड़ जेल में बंद है. प्रदेश के माफिया नेताओं में मुख्तार अंसारी का नाम पहले पायदान पर माना जाता है. 1988 में पहली बार हत्या के एक मामले में उसका नाम आया था. हालांकि पुलिस उसके खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं जुटा पाई थी. लेकिन इस बात को लेकर वह चर्चाओं में आ गया था. 1995 में मुख्तार अंसारी ने राजनीति की मुख्यधारा में कदम रखा. 1996 में मुख्तार अंसारी पहली बार विधानसभा के लिए चुना गया.

ये भी पढ़ें- विकास दुबे को था एनकाउंटर में मारे जाने का डर, पुलिस दबिश की पहले से जानकारी

जुर्म की दुनिया में पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद का भी बड़ा नाम है. अतीक अहमद अहमदाबाद के एक जेल में बंद है. अतीक अहमद 2004 में समाजवादी पार्टी से सांसद था और उस पर 2005 में बहुजन समाज पार्टी के विधायक राजू पाल की हत्या का आरोप लगा था.

सीएम योगी की पुलिस ने ये अपराधियों की ये लिस्ट तब बनाई है जब कानपुर गोलीकांड को लेकर वह सवालों के घेरे में है. इस गोलीकांड के बाद चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को सस्पेंड भी कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें- कानपुर मुठभेड़ के बाद विकास दुबे पर एक्शन, JCB से गिराया गया घर

पुलिस से ही जुड़े कुछ अफसरों ने अपराधी विकास दुबे को पुलिस रेड की पूर्व सूचना दे दी थी. पुलिस की जांच में चौबेपुर के थानाध्यक्ष और कुछ दूसरे सिपाहियों का नाम आया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay