एडवांस्ड सर्च

एशिया की सबसे बड़ी जेल तिहाड़ में नहीं हैं पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे

तिहाड़ जेल में करीब 900 कैमरे लगे हैं, जबकि इतनी बड़ी जेल में कम से कम 5000 कैमरों की जरूरत है, जिससे पूरे परिसर की निगरानी हो सके.

Advertisement
पूनम शर्मा [Edited By: राहुल विश्वकर्मा]नई दिल्ली, 08 February 2018
एशिया की सबसे बड़ी जेल तिहाड़ में नहीं हैं पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे तिहाड़ जेल

देश के साथ-साथ एशिया की बड़ी जेलों में शुमार तिहाड़ जेल में सुरक्षा के मद्देनजर पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे भी नहीं हैं. यह खबर है जरूर चौंकाने वाली लेकिन सच है. दरअसल दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट की गठित की गई एक कमेटी की रिपोर्ट पर यह सच सामने आया है.

फिलहाल तिहाड़ जेल में करीब 900 कैमरे लगे हैं, जबकि इतनी बड़ी जेल में कम से कम 5000 कैमरों की जरूरत है, जिससे पूरे परिसर की निगरानी हो सके. पिछले साल 21 नवंबर 2017को जेल में पैरामिलिट्री फोर्स के कुछ लोगों ने वहां के कैदियों की जमकर पिटाई कर दी थी, जिसमें 18 कैदी घायल हुए थे.

हाईकोर्ट ने इस मामले पर खुद ही संज्ञान लेते हुए एक कमेटी का गठन किया था. जब इस कमेटी ने इस पूरी घटना की सीसीटीवी फुटेज निकाली तो पता चला कि फुटेज पूरी है ही नहीं, क्योंकि CCTV से पूरी जगह कवर नहीं थी.

कमेटी ने अपनी जांच में यह भी बताया कि फिलहाल सीसीटीवी फुटेज सिर्फ 1 हफ्ते के लिए रखी जाती है, जबकि उसे 1 महीने के लिए सुरक्षित रखा जाना चाहिए. इससे जेल में सभी तरह की मारपीट और तस्करी से जुड़ी घटनाओं पर लगाम लग सकेगी. दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले की विस्तृत सुनवाई 1 मार्च के लिए टाल दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay