एडवांस्ड सर्च

EXCLUSIVE: इंडियन ISIS का कबूलनामा- जेहाद के नाम पर ले रहे हैं आतंकी ट्रेनिंग

अब तक आप सिर्फ ये सुनते थे कि भारत से ISIS के लिए आतंकवादियों की भर्ती हो रही है. ऐसे कई संदिग्ध लोगों को भारतीय जांच एजेंसियों ने पकड़ा भी है. लेकिन पहली बार हम आपको ISIS के इंडियन आतंकवादियों के बारे में वो बात बताएंगे, जो आपने कभी नहीं सुना होगा.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार/ अरविंद ओझा नई दिल्ली, 30 April 2016
EXCLUSIVE: इंडियन ISIS का कबूलनामा- जेहाद के नाम पर ले रहे हैं आतंकी ट्रेनिंग अफगानिस्तान में हो रही है आतंकी ट्रेनिंग

अब तक आप सिर्फ ये सुनते थे कि भारत से ISIS के लिए आतंकवादियों की भर्ती हो रही है. ऐसे कई संदिग्ध लोगों को भारतीय जांच एजेंसियों ने पकड़ा भी है. लेकिन पहली बार हम आपको ISIS के इंडियन आतंकवादियों के बारे में वो बात बताएंगे, जो आपने कभी नहीं सुना होगा. आतंकवादी ट्रेनिंग कैंप से हिंदी और उर्दू में बात करते हुए इन आतंकियों का एक ऐसा वीडियो सामने आया है, जिसमें आतंकी खुद कबूल कर रहे हैं कि वे जेहाद के नाम पर भारत से अफगानिस्तान जाकर ट्रेनिंग ले रहे हैं.

ISIS के आतंकी अनवर भटकल ने कहा, 'मुझे किसी ने ना ही भड़काया है और ना ही जबरदस्ती की है. मैं अपनी मर्ज़ी से आया हूं. इसी तड़प से मैं अल्लाह से राजी हो जाऊं.' ये उस आतंकी का कबूलनामा है, जो भारत से अफगानिस्तान आतंकी ट्रेनिंग के लिए गया हुआ है. इसी तरह एक आतंकवादी अनवर हुसैन है. वह कर्नाटक के भटकल का रहने वाला है. देश भर की तमाम जांच एजेंसियां अनवर की तलाश कर रही है. आज तक को उसका जो वीडियो मिला है. उसको देखकर आपके होश उड़ जाएंगे.

असली नाम- सईद अनवर हुसैन
आतंकी कैंप में नाम- अबु सईद अल हिंदी
पता- भटकल, कर्नाटक, भारत

जेहाद के नाम पर बरगलाते हैं युवा
कर्नाटक के भटकल का रहने वाला अनवर हुसैन इस वक्त अफगानिस्तान में है. वहां वो आईएसआईएस और अलकायदा के ट्रेनिंग कैंप में अपने उन आतंकवादियों के साथ है, जिन्हें वो जेहाद के नाम पर भारत से बरगला कर ले गया. वह कहता है, 'जिहाद जो फर्ज है. इसके लिए मैं आया हूं अम्मी और पापा. आप इस चीज को गौर से देखिए. हम कहां-कहां से आए हैं. इसके बावजूद अल्लाह ने हमें भूखा नहीं रखा. अच्छे से अच्छा खाना खिलाया. साथियों से मिलाया. जिहाद के मैदान में अल्लाह ने हमें सब दिया.'

नौकरी के लिए गया कर्नाटक से दुबई
आतंकी अनवर भटकल का ये विडियो जुनुद अल हिंद ग्रुप ने अपनी वेबसाइट पर डाला है. सोशल साइट के जरिए आतंक के आकाओं ने इस विडियो को हिंदुस्तान के कई लड़कों को भेजकर भड़काने की कोशिश भी की है. अनवर कर्नाटक के भटकल से दुबई नौकरी करने गया था. वहां 2013 के बाद से उसका कहीं अता-पता नहीं था. इंडियन मुजाहिदीन के चीफ यासीन भटकल की गिरफ्तारी के बाद जांच एजेंसियों को पता चला कि वह अफगानिस्तान में है. वहां आतंकवादी ट्रेनिंग कैंप में आतंक की ट्रेनिंग ले रहा है.

वीडियो के जरिए आतंक का प्रचार
वीडियो में अनवर कहता है, 'जेहाद फर्ज है और हक है. अम्मी और अब्बा की इजाजत की जरुरत नहीं पड़ती. मुझे ना किसी ने भड़काया है ना किसी ने जबरदस्ती की है. मैं अपनी मर्जी से आया हूं. जेहाद का इल्म ना होने के बावजूद हम हिजरत ना करें. यही सोचें हम कमजोर हैं, तो कमजोर ना अल्लाह है ना दीन है.' ऐसे वीडियो के जरिए अनवर जैसे आतंकवादी ISIS और अलकायदा के लिए जेहाद के नाम पर आतंक का प्रचार कर रहे हैं.. इस तरह के प्रोपेगैंडा वीडियो से ही युवाओं को आसानी से भड़काया जाता है.

मौत के दावे के बाद कैसे है जिंदा?
ISIS और अलकायदा के लिए काम करने वाले इंडियन आतंकवादियों की एक पूरी टीम इस वक्त अफगानिस्तान में है. इसमें भारत से गए कई लोग आतंकवाद की ट्रेनिंग ले रहे हैं. वहां से उन्हें सीरिया और इराक भी भेजा जाता है. आतंकी संगठन जुनूद अल हिंद ने 2014 में सीरिया में अनवर हुसैन की मौत का दावा किया था, लेकिन जांच एजेंसियों को लगता है कि ये भी प्रोपेगैंडा हो सकता है, क्योंकि सामने आए इस वीडियो में अनवर अफगानिस्तान में ट्रेनिंग कैंप में बैठा दिख रहा है. उसके साथ कई और इंडियन आतंकवादी भी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay