एडवांस्ड सर्च

PAK में रची गई शुजात की हत्या की साजिश, लश्कर ने दिया अंजाम

कश्मीर के मशहूर पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या की साजिश आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान में रची गई थी. इस हत्या को लश्कर-ए-तैय्यबा के खूंखार आतंकियों ने अंजाम दिया था. आईजीपी कश्मीर एसपी पाणि ने बुखारी की हत्या को अंजाम देने वाले आतंकियों की तस्वीर भी जारी की है.

Advertisement
aajtak.in
राम कृष्ण श्रीनगर, 28 June 2018
PAK में रची गई शुजात की हत्या की साजिश, लश्कर ने दिया अंजाम शुजात बुखारी के हत्यारों की तस्वीर जारी

कश्मीर के मशहूर पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या की साजिश आतंकवाद के पनाहगाह पाकिस्तान में रची गई थी. इस हत्या को लश्कर-ए-तैय्यबा के खूंखार आतंकियों ने अंजाम दिया था. गुरुवार को आईजीपी कश्मीर एसपी पाणि ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी.

उन्होंने राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या को अंजाम देने वाले आतंकियों की तस्वीर भी जारी की है. आईजीपी कश्मीर ने कहा, 'हमारे पास इस बात के ठोस सबूत हैं कि शुजात बुखारी की हत्या की साजिश पाकिस्तान में रची गई थी. वहां से आए आतंकियों ने इस वारदात को अंजाम दिया था.'

पाणि ने कहा कि शुजात बुखारी की हत्या के आरोपियों की पहचान सज्जाद गुल, आजाद अहमद मलिक, मुजाफर अहमद भट और नवीद जट के रूप में हुई है. सज्जाद गुल अब पाकिस्तान में रहता है, जबकि आजाद अहमद मलिक अनंतनाग जिले का रहने वाला है और लश्कर का आतंकी है. मुजाफर अहमद भट और नवीद जट भी लश्कर के आतंकी हैं.

इससे पहले बुधवार को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शुजात बुखारी की हत्या में शामिल लश्कर-ए-तैय्यबा के फरार आतंकी और पाकिस्तानी नागरिक नवीद जट समेत तीन आतंकियों की पहचान करने की बात कही थी.

पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि बुखारी को मारने की साजिश के बारे में ब्योरा हाल में कुलगाम में हुई मुठभेड़ों में से एक की जांच के दौरान सामने आया. इस दौरान पुलिस को इस बारे में साक्ष्य मिले कि 14 जून को पत्रकार की हत्या से कुछ मिनट पहले सीसीटीवी फुटेज में मोटर साइकिल पर दिखे तीन आतंकवादियों के बीच में जट बैठा था.

इस साल फरवरी में एसएमएचएस अस्पताल से फरार हुआ जट लश्कर-ए-तैय्यबा का आतंकवादी है. पुलिस अधिकारियों ने बताया था कि श्रीनगर निवासी एक ब्लॉगर की भी पहचान की गई है, जो अब पाकिस्तान में रह रहा है. पिछले साल बुखारी के दुबई सम्मेलन में शामिल होने के बाद ब्लॉगर ने उनके खिलाफ एक घृणा अभियान की शुरुआत की थी.

मालूम हो कि स्थानीय दैनिक राइजिंग कश्मीर के प्रधान संपादक बुखारी की 14 जून को प्रेस एंक्लेव स्थित उनके कार्यालय के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

इस हमले में बुखारी के दो निजी सुरक्षा अधिकारी भी मारे गए थे. इस सनसनीखेज हत्याकांड के बाद पुलिस ने हमलावरों की सीसीटीवी फुटेज जारी की थी, जो मोटरसाइकिल पर सवार थे. एक हमलावर ने जहां हेलमेट पहन रखा था तो एक अन्य ने मास्क पहन रखा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay