एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में हॉरर किलिंग, बेटी की हत्या कर शव 80 किमी दूर नहर में बहा दिया

शीतल चौधरी को पड़ोस में रहने वाले अंकित भाटी से प्यार हो गया था. शीतल और अंकित ने लगभग तीन साल तक रिश्ते में रहने के बाद पिछले साल अक्टूबर में आर्य समाज मंदिर पहुंचकर चुपके से शादी कर ली थी.

Advertisement
aajtak.in
चिराग गोठी नई दिल्ली, 22 February 2020
दिल्ली में हॉरर किलिंग, बेटी की हत्या कर शव 80 किमी दूर नहर में बहा दिया शीतल और अंकित ने अक्टूबर में चुपके से शादी कर ली थी (फाइल फोटो)

  • दिल्ली से अलीगढ़, 80 किलोमीटर दूर फेंका शव
  • प्रेमी की शिकायत पर तहकीकात में खुला राज

पूर्वी दिल्ली के न्यू अशोक नगर में ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है, जहां बेटी के लव मैरिज करने से खफा परिजनों ने उसकी हत्या कर दी. हत्या के बाद कार से उसका शव लेकर परिजन 80 किलोमीटर दूर गए और उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले की जावा नहर में ठिकाने लगा आए. इस मामले का पर्दाफाश तब हुआ, जब युवती के प्रेमी ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में लिखवाई.

पुलिस ने हत्या के आरोप में युवती की मां सुमन, पिता रवीन्द्र, ताऊ संजय, फूफा ओम प्रकाश, फूफा के बेटे परवेश को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जाता है कि रवीन्द्र चौधरी अपने परिवार के साथ न्यू अशोक नगर में रहते थे. उनकी बेटी शीतल चौधरी को पड़ोस में रहने वाले अंकित भाटी से प्यार हो गया था. शीतल और अंकित ने लगभग तीन साल तक रिश्ते में रहने के बाद पिछले साल अक्टूबर में आर्य समाज मंदिर पहुंचकर चुपके से शादी कर ली थी.

murder_022120112809.jpgपुलिस की गिरफ्त में हत्यारोपी परिजन

यह भी पढ़ें- लखनऊ: BTech के छात्र को चाकू घोंपने के बाद ताली बजा रहे थे हमलावर

शीतल के शादी कर लेने की भनक परिजनों को जैसे ही लगी, सभी ने उसे समझाने की पूरी कोशिश की. जब वह अपने फैसले पर अड़ी रही, तब खफा परिजनों ने 18 जनवरी की रात गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. युवती की हत्या करने के बाद उसका शव लेकर परिजन उसी रात कार से 80 किलोमीटर दूर गए. अलीगढ़ इलाके में जाकर परिजनों ने शव को जावा नहर में फेंक दिया और वापस अपने घर आ गए.

यह भी पढ़ें- चाउमीन खिलाने के बहाने मासूम से दुष्कर्म के बाद हत्या, नाबालिग आरोपी गिरफ्तार

बताया जाता है कि इसके बाद जब अंकित ने शीतल को कई बार फोन किया, तब उसका फोन स्वीच ऑफ बताता रहा. शीतल से संपर्क न होने की वजह से अंकित ने न्यू अशोक नगर थाने पहुंचकर उसके अपहरण की तहरीर दी. शिकायत मिलने के बाद हरकत में आई पुलिस ने शीतल के घर जाकर उसके संबंध में पूछताछ की, तो परिजनों ने उसके अपनी बुआ के घर जाने की जानकारी दी. पुलिस बुआ के घर पहुंची, तो शीतल वहां भी नहीं मिली.

यह भी पढ़ें- ब्याज पर लिया पैसा नहीं लौटाया तो कार से रौंदकर की थी हत्या, आरोपी गिरफ्तार

कई दिन तक हाथ-पांव मारने के बाद भी खाली हाथ रही पुलिस ने शीतल के परिजनों की कॉल डिटेल निकलवाई तो परिवार शक के घेरे में आ गया. शक के आधार पर जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो शीतल की हत्या का राज खुल गया. दिल्ली पुलिस ने जब अलीगढ़ पुलिस से संपर्क किया, तो यह खुलासा हुआ कि 30 जनवरी के दिन एक लाश मिली थी, जिसकी शिनाख्त नहीं होने पर 2 फरवरी को अंत्येष्टि भी कर दी गई. उसके कपड़े, कुछ सामान और तस्वीर के सहारे दिल्ली पुलिस ने उसकी शिनाख्त शीतल चौधरी के रूप में की.

कार में बैठाकर ले गए शीतल का शव

कड़ाई से पूछताछ करने पर शीतल के परिजनों ने बताया कि शीतल की हत्या करने के बाद उसे सफेद रंग की वैगनआर कार से सीट पर बैठाकर ले जाया गया. पुलिस ने आरोपी माता-पिता के साथ ही ताऊ, फूफा और उनके बेटे को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay