एडवांस्ड सर्च

बिजनेसमैन को हनीट्रैप में फंसाया, कहा- संबंध बनाओ वरना शोर मचाकर फंसा दूंगी

फरीदाबाद में पुलिस ने प्यार के जाल में फंसा कर पैसे एंठने वाले एक बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने एक युवती समेत कुल 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in/ तनसीम हैदर नई दिल्ली, 13 June 2019
बिजनेसमैन को हनीट्रैप में फंसाया, कहा- संबंध बनाओ वरना शोर मचाकर फंसा दूंगी (सांकेतिक तस्वीर)

दिल्ली से सटे फरीदाबाद में पुलिस ने प्यार के जाल में फंसाकर पैसे एंठने वाले एक बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है. इस मामले में पुलिस ने 1 युवती और उसके 5 साथियों को गिरफ्तार किया है. ये गैंग एक बिजनेसमैन को रेप के मामले में ब्लैकमेल कर उससे 40 लाख रुपए ऐंठने के चक्कर में था, लेकिन पुलिस के हत्थे चढ़ गया. आरोपियों को कोर्ट में पेश कर, जेल भेज दिया गया है.

पीड़ित बिजनेसमैन कुत्तों की खरीद-फरोख्त का काम करता है जिसका प्रचार उसने फेसबुक पर किया था. इसे ठग गैंग ने देखा और अपना अगला शिकार चुन लिया. पहले तो ठग गैंग की युवती ने बिजनेसमैन से फेसबुक पर दोस्ती की और कहा मुझे एक कुत्ता चाहिए. फिर थोड़े दिन बाद 18 मई को दुबारा मिलने बुलाया, ये बोलकर कि मुझे ये कुत्ता पसंद नहीं आया, इसे वापस ले जाओ. करनाल निवासी बिजनेसमैन कुत्ते को वापस लेने महिला की बुलाई जगह फरीदाबाद मेट्रो स्टेशन आया और मिला.

इसके साथ ही शातिर युवती ने जाल बिछाना शुरू कर दिया. उसने बोला उसका भाई अभी 2-3 घंटे में कुत्ता लेकर पहुंच रहा है. इतनी देर तक गाड़ी में बैठे रहे तो थक जाएंगे. आराम करने के लिए रूम बुक कर लेते हैं. जैसे ही दोनों रूम पर पहुंचे, आरोपी महिला ने पीड़ित से कहा- मेरे साथ संबंध बनाओ वरना मैं शोर मचाकर फंसा दूंगी. संबंध बनाने के बाद पीड़ित होटल से बाहर निकल अपने घर करनाल वापस आ गया. इस बात से अंजान कि वो एक गहरी साजिश का शिकार हो गया है.

अपने बनाये प्लान के मुताबिक उसी शाम महिला फरीदाबाद के बल्लभगढ़ थाने में पहुंची और पीड़ित बिजनेस मैन के खिलाफ बलात्कार और जान से मारने की धमकी देने का झूठा मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस ने शिकायत दर्ज करने के बाद पीड़ित को फोन किया. कुछ देर बाद ही पीड़ित को दो अलग-अलग मोबाइल नंबर से फोन आया और 40 लाख रुपए की डिमांड की.

पीड़ित बिजनेस मैन को अंदाजा हो गया कि वो गहरी साजिश का शिकार बना है. उसने फोन करने वालों से कहा कि इन सबमें उसकी कोई गलती नहीं है और वह इतनी बड़ी रकम अदा नहीं कर सकता है. जिस पर आरोपी महिला एवं उसके दो साथियों ने 17 लाख रुपए में सौदा तय कर लिया. लेकिन घबराए हुए पीड़ित व्यक्ति ने सेंट्रल थाना में ब्लैकमेल करने की शिकायत दर्ज करा दी.

11 जून को एसीपी धारणा यादव (क्राइम अगेंस्ट वूमेन) को इस हनी ट्रैप मामले की खबर मिली. शिकायत के आधार पर पुलिस ने टीम गठित कर कार्रवाई की और छापेमारी कर आरोपी महिला को कोर्ट के बाहर पैसों सहित रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. देर रात सभी आरोपियों दीपक, सुमित, गौरव और सतीश और बलात्कार केस की पीड़िता व एक्सटॉर्शन केस की आरोपी महिला को गिरफ्तार करके मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में पेश किया. वहां से सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay