एडवांस्ड सर्च

हिसार का निर्भया कांड: पुलिस आश्वासन के बाद बच्ची का अंतिम संस्कार

प्रशासन ने पीड़ित परिवार को 10 लाख की मदद और परिवार के दो सदस्यों को नौकरी देने की घोषणा की है. प्रशासन ने साथ ही 48 घंटे के अंदर आरोपी को पकड़ने का आश्वासन दिया है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by : आशुतोष]हिसार, 11 December 2017
हिसार का निर्भया कांड: पुलिस आश्वासन के बाद बच्ची का अंतिम संस्कार पीड़िता के परिवार को 10 लाख रुपये के मदद की घोषणा

हरियाणा के हिसार में निर्भया कांड जैसी हैवानियत की शिकार हुई 5 साल की बच्ची के शव का परिजनों ने आखिरकार अंतिम संस्कार कर दिया. इससे पहले परिजनों ने यह चेतावनी दी थी कि जब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, वे बच्ची का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे. हालांकि पुलिस द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद उन्होंने अंतिम संस्कार करने का फैसला लिया.

हिसार के उकलाना में सोमवार को वारदात के 24 घंटे बाद कड़ी सुरक्षा के बीच बच्ची का अंतिम संस्कार किया गया. अंतिम संस्कार के दौरान मौजूद लोगों ने लगातार ‘गुड़िया अमर रहे’ के नारे लगाए और हत्यारोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की. प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने भी बच्ची के अंतिम संस्कार के दौरान उपस्थित थे.

उन्होंने इस शर्मनाक कांड की निंदा की है और आरोपियों को जल्द पकड़ने का विश्वास दिलाया. प्रशासनिक अधिकारियों ने उकलाना पहुंचकर पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद दी. प्रशासन ने पीड़ित परिवार को 10 लाख की मदद और परिवार के दो सदस्यों को नौकरी देने की घोषणा की है.

प्रशासन ने साथ ही 48 घंटे के अंदर आरोपी को पकड़ने का आश्वासन दिया है. हालांकि 36 घंटे बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. यहां तक कि पुलिस इस मामले में अब तक आरोपी का कोई सुराग तक हासिल नहीं कर पाई है.

इस बीच राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) के प्रवक्ता ने कहा है कि आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने, उसे न्याय के दरवाजे तक पहुंचाने और कड़ी से कड़ी सजा दिलाने तथा पीड़ित बच्ची के परिजनों की मदद के लिए हम हरियाणा पुलिस से बात करेंगे. आयोग इस संबंध में त्वरित कार्रवाई करेगा.

गौरतलब है कि हिसार के उकलाना गांव में घर के सदस्यों के साथ सो रही 5 साल की मासूम बच्ची को अगवा कर उसके साथ निर्दयता पूर्वक रेप किया गया और हैवानियत की हदें पार करते हुए बच्ची के प्राइवेट पार्ट में लकड़ी डालकर उसकी हत्या कर दी गई. बच्ची गरीब परिवार की है और पूरा परिवार झोंपड़ी बनाकर रहता है. पुलिस ने बच्ची की लाश का पोस्टमार्टम करवाया, जिसमें रेप और टॉर्चर की पुष्टि हुई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि बच्ची की मौत बर्बरतापूर्वक प्राइवेट पार्ट में लकड़ी के चलते हुई. बच्ची के गर्भाशय और आंत जख्मी पाए गए.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, बच्ची के कंधों, कमर और नाक पर भी जख्म के निशान थे. बच्ची की गर्दन से भी खून निकल रहा था. शनिवार की सुबह जब परिवार वाले जागे और बच्ची को नहीं पाया तब उन्हें बच्ची के गायब होने का पता चला. तभी एक स्थानीय व्यक्ति ने उन्हें बताया कि उनके घर से कुछ ही दूरी पर एक बच्चे का शव खून में लथपथ पड़ा हुआ है.

हिसार पुलिस SP ने मामले की जांच के लिए SIT गठित करने का आदेश दे दिया है. पुलिस ने फोरेंसिक टीम भी मौके पर भेज दी है और अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ अपहरण, रेप और हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है.

पुलिस ने बच्ची के साथ गैंगरेप होने से भी इनकार नहीं किया है. हालांकि पुलिस का कहना है कि बच्ची के शव के पास से एक ही तरह के जूतों को निशान मिले हैं. इस बीच घटना से गुस्साए गांववालों ने धरना-प्रदर्शन किया, सड़क जाम कर दिया और प्रशासन से त्वरित कार्रवाई की मांग की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay