एडवांस्ड सर्च

Whatsapp से पकड़े जाएंगे अपराधी, गुरुग्राम एसटीएफ का नया प्लान

हरियाणा में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने अपराधियों को पकड़ने और अपराध को कम करने के लिए  Whatsapp का सहारा लिया है. इसके अलावा एक ईमेल भी जारी किया है जिस पर किसी भी अपराधी की जानकारी एसटीएफ को दी जा सकती है.

Advertisement
aajtak.in
तनसीम हैदर 29 March 2019
Whatsapp से पकड़े जाएंगे अपराधी, गुरुग्राम एसटीएफ का नया प्लान प्रतीकात्मक फोटो-आजतक

हरियाणा में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने अपराधियों को पकड़ने और अपराध को कम करने के लिए  Whatsapp का सहारा लिया है. इसके आलावा एक ईमेल भी जारी किया है जिस पर किसी भी अपराधी की जानकारी एसटीएफ को दी जा सकती है.

हरियाणा में बढ़ते अपराध के ग्राफ को देखते हुए एसटीएफ ने सोशल मीडिया के साथ-साथ इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी का सहारा ले रही है. एसटीएफ ने  Whatsapp नंबर 8800042000 , ईमेल-STFHRYINFO@GMAIL जारी किया है जिस पर आम नागरिक आसानी  से सूचना दे सकता है. हरियाणा एसटीएफ के इस प्लान में लोगों की भागीदारी अहम रोल अदा करेगी.

इन दोनों माध्यमों से कोई भी व्यक्ति किसी भी अपराधी की जानकारी दे सकता है. पुलिस का मानना है कि कई बार किसी इलाके में छोटे स्तर पर ही कोई अपराधी पनपता रहता है लेकिन पुलिस को उसकी जानकारी नहीं होती है. जबकि अब इस नंबर और मेल के सहारे कोई भी व्यक्ति किसी भी ऐसे व्यक्ति की जानकारी दे सकता है जो गैरकानूनी काम करता हो.

गुरुग्राम एसटीएफ की तरफ से इस नंबर और मेल को 24 घंटे चेक किया जाएगा. कोई भी व्यक्ति किसी भी अपराधी और गैरकानूनी गतिविधि करने वाले के बारे में जानकारी दे सकता है. एसटीएफ की तरफ से लोगों को ये आश्वासन भी दिया गया है कि जो भी जानकारी वो साझा करेंगे उस व्यक्ति की पहचान गोपनीय रखी जाएगी. वहीं ऐसे साहसी काम के लिए एसटीएफ की तरफ से जानकारी देने वाले को इनाम के तौर पर सम्मान राशि दी जाएगी.

एसटीएफ आईजी ने ऐसे लोगों को भी चेतावनी दी है जो इस तरह के नंबर और मेल पर गलत जानकारियां साझा करते हैं. उन्होंने कहा कि शिकायत मिलने के बाद उसकी जांच करके आगे की कार्रवाई की जाएगी और यदि कोई फेक कॉल करेगा या झूठी सूचना शेयर करेगा तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी.

हरियाणा में अपराध पर नकेल कसने के लिए हरियाणा सरकार ने एसटीएफ का गठन किया था. इसके बाद से कई नामी बदमाश टास्क फोर्स के हाथ लगे और उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचाया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay