एडवांस्ड सर्च

गुड़गांव गैंगरेप केस: तीन आरोपी गिरफ्तार, एक महिला पुलिसकर्मी सस्पेंड

दिल्ली से सटे गुड़गांव में हुए गैंगरेप और हत्या मामले में पुलिस ने कुल तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अभी एक आरोपी फरार हैं. इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में एक महिला पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है. पुलिस ने दूसरे आरोपी योगेंद्र के बाद तीसरे आरोपी अमित को भी गिरफ्तार कर लिया.

Advertisement
अरविंद ओझा [Edited by: मुकेश कुमार गजेंद्र]गुड़गांव, 07 June 2017
गुड़गांव गैंगरेप केस: तीन आरोपी गिरफ्तार, एक महिला पुलिसकर्मी सस्पेंड गुड़गांव में गैंगरेप और हत्या का मामला

दिल्ली से सटे गुड़गांव में हुए गैंगरेप और हत्या मामले में पुलिस ने कुल तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अभी एक आरोपी फरार हैं. इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में एक महिला पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है. पुलिस ने दूसरे आरोपी योगेंद्र के बाद तीसरे आरोपी अमित को भी गिरफ्तार कर लिया.

जानकारी के मुताबिक, गुड़गांव पुलिस ने पीड़िता के जरिए आरोपियों का स्केच तैयार करके जारी किया था. इसके साथ ही पुलिस की टीम इलाके के सभी ऑटो ड्राइवरों की जांच कर रही है. 29 मई को एक ऑटो ड्राइवर ने अपने साथियों के साथ महिला के साथ गैंगरेप किया था और उसकी 9 महीने की बच्ची की हत्या कर दी.

बताया जाता है कि इस वारदात के बाद महिला बेटी का शव लेकर मेट्रो से दिल्ली आई और फिर शव लेकर दिल्ली से वापस गुड़गांव मेट्रो से गई. शुरूआत में पीड़िता ने लोकलाज के भय से इस मामले का खुलासा नहीं किया, लेकिन बाद में उसने थाने में तहरीर दी, जिसके आधार पर पुलिस ने केस दर्ज किया. आरोपियों का अब तक कोई सुराग नहीं है.

कहने को गुड़गांव कभी नहीं सोता. 24 घंटे पुलिस का पहरा रहता है. लेकिन पुलिस के उन दावों की पोल उस वक्त खुल गई. जब एक महिला को चलते ऑटो में हैवानियत का शिकार बनाया गया. महिला के साथ उसकी 9 महीने की बच्ची भी थी. हैवानों ने बच्ची को सड़क पर फेंक दिया. उसकी मौत हो गई. बदमाश घंटों महिला संग गैंगरेप करते रहे.

यह वारदात गुड़गांव के आईएमटी इलाके यानी सेक्टर 8 की है, जहां 29 तारीख की रात को महिला अपने पति से अनबन होने के बाद मायके जाने के लिए निकली थी. रात का वक्त  था. उसके साथ में 9 महीने की बच्ची थी. वो सड़क पर ऑटो का इंतजार कर रही थी. तभी एक शेयरिंग ऑटो ने लिफ्ट देने के बहाने उसे बैठा लिया. ऑटो में तीन और लोग थे.

महिला बिना सोचे उसमें बैठ गई. इस बात से बेखबर कि उसके साथ कुछ गलत होने वाला है. कुछ दूर जाने पर ऑटो में सवार लड़कों ने उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी. इस दौरान महिला की बच्ची रोने लगी, लेकिन लड़के बाज़ नहीं आए. उन्होंने 9 महीने की मासूम को चलते ऑटो से नीचे फेंक दिया. सिर में चोट लगने से बच्ची की मौत हो गई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay