एडवांस्ड सर्च

गुजरात पेपर लीक मामलाः 8 गिरफ्तार, बीजेपी ने एक और सदस्य को पार्टी से निकाला

गुजरात में 2 दिन पहले हुए लोकरक्षक दल परीक्षा पेपर लीक मामले में पुलिस अपनी छानबीन कर रही है, लेकिन इस बीच बीजेपी नेताओं के इस घोटाले में शामिल होने के आरोप के बाद पार्टी ने अपने एक और नेता को पार्टी से बाहर कर दिया है.

Advertisement
aajtak.in
गोपी घांघर अहमदाबाद, 04 December 2018
गुजरात पेपर लीक मामलाः 8 गिरफ्तार, बीजेपी ने एक और सदस्य को पार्टी से निकाला परीक्षा पेपर लीक मामले में 4 और गिरफ्तारी (फोटो-गोपी)

गुजरात लोकरक्षक दल परीक्षा के पेपर लीक होने के मामले में बीजेपी के 2 नेताओं के नाम सामने आने के बाद मंगलवार को गुजरात बीजेपी ने अपने एक और सदस्य को पार्टी से बर्खास्त कर दिया है. साथ ही 4 और लोगों को पकड़ने के बाद घोटाले में अब तक 8 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं.

गुजरात के अरवल्ली बीजेपी जिला अध्यक्ष ने प्रेस रिलीज जारी कर पेपर लीक मामले को जोड़ते हुए अपने एक सदस्य जयेंद्र रावल को बर्खास्त कर दिया है. पुलिस पहले ही बीजेपी के 2 पदाधिकारियों मनहर पटेल ओर मुकेश चौधरी को गिरफ्तार कर चुकी है. हालांकि पुलिस जयेन्द्र रावल को पहले ही हिरासत में ले चुकी है, लेकिन उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है. पुलिस इस पूरे मामले में पेपर लीक में अहम भूमिका अदा करने वाले चार लोगों को पकड़ चुकी है.

माना जा रहा है कि इस पूरे मामले में वडोदरा का रहने वाला यशपाल सोंलकी मास्टर माइंड है, लेकिन पुलिस को पूछताछ के दौरान कई नए खुलासे हुए हैं. पुलिस को पूछताछ में जानकारी मिली कि यशपाल तो महज एक मोहरा था, इस के पीचे के मास्टर माइंड कई और लोग हैं.

दिलचस्प बात तो यह है कि यशपाल खुद भी लोकरक्षक दल यानी पुलिस कॉन्स्टेबल की परीक्षा दे रहा था. पुलिस की जांच में यह खुलासा हुआ कि यशपाल अकेला नहीं था जो गुजरात से दिल्ली पेपर लेने के लिए गया था. उसके साथ 25 से 30 दूसरे युवा भी थे. दिल्ली से अहमदाबाद आने के बाद यशपाल ने मनहर पटेल, मुकेश चौधरी को पेपर देने के साथ-साथ इसे दूसरे वॉट्सऐप ग्रुप में भी भेजा था.

गुजरात पुलिस की जांच में सामने आया है कि 29 नवंबर को 25-30 लड़के पांच गाड़ियों में अहमदाबाद से सड़क के रास्ते दिल्ली जाने के लिए निकले थे.

गांधीनगर एसपी मयूर चावड़ा के मुताबिक ये लोग पहले गुरुग्राम पहुंचे जहां से उन्हें पांच अलग-अलग ग्रुपों में बांटकर दिल्ली के अलग-अलग जगहों पर ले जाया गया, जहां उन्हें पेपर दिखाया गया. वहां करीबन 3 घंटे रुकने के बाद वो वापस गुजरात के लिए निकल गए.

दिल्ली का एक गैंग पेपर लीक में शामिल

पुलिस की जांच में यह सामने आया है कि दिल्ली का एक गैंग है जो पेपर लीक करने में शामिल है. लोकरक्षक दल का पेपर ही नहीं बल्कि इसे पहले भी दूसरे पेपर लीक करने में भी यह गैंग काफी सक्रिय रहा था.

गांधीनगर एसपी के मुताबिक 5 लाख प्रति छात्र पैसे तय हुए थे, जिसमें 5 लाख का चेक छात्रों को दिल्ली में ही गिरोह को पैसे लिख नाम के जगह को खाली छोड़कर चेक देना था. फिर परीक्षा के दौरान अगर वही पेपर निकलता है तो गिरोह के सदस्य खुद ही पांच लाख रुपए उसमें लिख अपने अकाउंट में जमा करवा लेते.

हालांकि अब तक यशपाल सोंलकी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है, लेकिन दिल्ली पेपर को लीक करने वाले गिरोह की ज्यादातर जानकारी पुलिस को मिल चुकी है. पुलिस का दावा है कि वह जल्द ही गिरोह तक पहुंच जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay