एडवांस्ड सर्च

Advertisement

योगी की पुलिस एक्शन में, 6 घंटे में अगवा व्यवसायी को छुड़ाया

योगी की पुलिस एक्शन में, 6 घंटे में अगवा व्यवसायी को छुड़ाया
aajtak.in [edited by: नंदलाल शर्मा]फिरोजाबाद , 20 May 2017

यूपी के फिरोजाबाद से अगवा कारोबारी संजय मित्तल को पुलिस ने 6 घंटे के भीतर छुड़ा लिया है. पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार भी किया है. इसे पुलिस की बड़ी कामयाबी माना जाना रहा है. बता दें कि शुक्रवार शाम को फिरोजाबाद के नंगला भाऊ इलाके में अपनी फैक्ट्री जा रहे मित्तल का पुलिस की ड्रेस में आए दो अपराधियों ने अपहरण कर लिया था.

यूपी के बड़े कांच व्यवसायियों में से एक संजय मित्तल गृहमंत्री राजनाथ सिंह के करीबी दोस्तों में से एक हैं.

इससे पहले मथुरा में दो ज्वैलर्स के साथ दिनदहाड़े लूट और मर्डर के बाद बड़े शीशा व्यवसायी के अपहरण की इस घटना ने यूपी की कानून व्यवस्था को सवालों के घेरे में ला दिया था. हालत ये हो गई है कि यूपी की योगी सरकार और पुलिस को कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष ने घेरना शुरू कर दिया है.

फैक्ट्री जा रहे थे संजय मित्तल
एफएम ग्लास इंडस्ट्री के मालिक संजय मित्तल फिरोजाबाद में नंगला भाऊ इंडस्ट्रियल इलाके में अपनी फैक्ट्री जा रहे थे. इस दौरान मित्तल की इनोवा को पुलिस की ड्रेस में दो मोटरसाइकिल सवारों ने रुकवाया और बंदूक के दम पर संजय को उनकी कार में ही बंधक बना अगवा कर ले गए.

सीनियर एसपी अजय कुमार ने कहा कि घटना के वक्त 42 वर्षीय संजय मित्तल अपनी फैक्ट्री जा रहे थे.

उन्होंने कहा कि बिजनेसमैन को छुड़ाने और अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के लिए कार्रवाई की जा रही है. बता दें कि यह घटना मथुरा कांड के सिर्फ दो दिन ही हुई है, जहां डकैती की एक घटना में दो ज्वैलर्स की हत्या कर दी गई.

बीस साल पहले पिता का हुआ था अपहरण
बता दें कि बीस साल पहले संजय मित्तल के पिता एसपी मित्तल का भी अपहरण हुआ था और तब उनको छुड़ाने के लिए परिवार को एक करोड़ की फिरौती देनी पड़ी थी.

कानून व्यवस्था को लेकर ज्वैलर्स नाराज
ज्वैलर्स समुदाय में घटना को लेकर भारी रोष है और व्यावसायिक समुदाय ने घटना को लेकर बड़े स्तर पर अपना विरोध जताया है.

बंद रहीं 7000 से ज्यादा दुकानें
मथुरा कांड के विरोध में लगभग 7000 से ज्यादा ज्वैलर्स ने शुक्रवार को अपनी दुकानें बंद रखीं. घटना के बाद योगी सरकार ने चार पुलिस वालों को निलंबित कर दिया.

कानून व्यवस्था पर बोले योगी
दूसरी ओर शुक्रवार को ही यूपी विधानसभा में बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम तय कर चुके हैं कि प्रदेश में अपराध की जगह नहीं होगी, न ही अपराधियों के संरक्षण की. अगर किसी ने गरीब, व्यापारी या किसी का उत्पीड़न किया, तो उसे अपने भविष्य के बारे में सोचना होगा. हालांकि योगी आदित्यनाथ के कानून व्यवस्था सुधारने के दावे सिर्फ जमा खर्ची साबित हो रहे हैं.

(आजतक लाइव टीवी देखने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.)

टैग्स

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay