एडवांस्ड सर्च

दरिंदों ने गैंगरेप के बाद नाबालिग लड़की को जिंदा जलाया

असम के नागांव जिले के धनिया भेती लालगंज इलाके में एक नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात सामने आई है. हवस का शिकार बनाने के बाद दरिंदों ने पीड़िता को आग के हवाले कर दिया.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार नागांव, 25 March 2018
दरिंदों ने गैंगरेप के बाद नाबालिग लड़की को जिंदा जलाया असम के नागांव जिले में हुई वारदात

असम के नागांव जिले के धनिया भेती लालगंज इलाके में एक नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात सामने आई है. हवस का शिकार बनाने के बाद दरिंदों ने पीड़िता को आग के हवाले कर दिया. इस घटना से गुस्साए लोगों ने एक आरोपी के घर पर हमला कर दिया. पुलिस ने केस दर्ज करके इस मामले की जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, पांचवीं कक्षा की एक लड़की कल शाम अकेली घर लौट रही थी. उसी वक्त रास्ते में जाकिर हुसैन और चार अन्य लोगों ने उसे अपनी हवस का शिकार बना डाला. अपराध को अंजाम देने के बाद उन्होंने बच्ची पर मिट्टी का तेल डाल उसे आग लगा दी. लड़की की आज सुबह बी पी सिविल अस्पताल में मौत हो गई है.

इस वारदात के बाद इलाके लोग नाराज हो गए. गुस्साए लोगों ने जाकिर हुसैन के घर पर हमला कर दिया, लेकिन वह वारदात के बाद से ही फरार बताया जा रहा है. पीड़िता के परिजनों के तहरीर पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी और पॉक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है. उनकी तलाश की जा रही है.

बताते चलें कि इसी तरह आंध्र प्रदेश के कोठगुडेम जिले के पांडुरंगपुरम के पास 15 वर्षीय लड़की से गैंगरेप की सनसनीखेज वारदात सामने आई है. पुलिस इस मामले में केस दर्ज करते हुए 14 लोगों को गिरफ्तार किया है. एक अन्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए तलाश जारी है. पुलिस की एक टीम इस मामले की जांच कर रही है.

पुलिस उपाधीक्षक आर साईंबाबा ने बताया कि कोठगुडेम जिले के पांडुरंगपुरम गांव के पास जंगल में 20-25 वर्ष आयु वर्ग के 14 लोगों ने एक लड़की के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया. इसके बाद लड़कों ने पीड़ित लड़की को 45 वर्षीय व्यक्ति के घर ले जाकर छोड़ दिया. उसने लड़की को हवस का शिकार बनाया.

जानकारी के मुताबिक, किसी तरह पीड़ित लड़की वहां से भाग निकलने में कामयाब रही. पड़ोसी जयशंकर भुपालपल्ली जिले स्थित अपने भाई के घर पहुंची. इसके बाद लड़की ने अपने माता-पिता से पूरा घटनाक्रम बयां किया. परिजनों ने जब गांव में मुद्दा उठाया, तो मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की गई.

उन्होंने बच्ची की मां को पांच लाख रुपये देने की कोशिश भी की थी. पीड़िता की मां ने रुपये लेने से इनकार करते हुए पुलिस को घटना की जानकारी दी. डीएसपी ने बताया कि 45 वर्षीय व्यक्ति सहित 14 आरोपियों को कल गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay