एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दहेज की खातिर बहू पर डाला तेजाब फिर डीजल से जलाया, मौत

दहेज की खातिर बहू पर डाला तेजाब फिर डीजल से जलाया, मौत
प्रियंका शर्मा [Edited by: परवेज़ सागर]गाजियाबाद, 21 April 2017

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में एक विवाहिता दहेज की बली चढ़ा दी गई. दहेज लोभी ससुरालियों ने उस महिला को एसिड और डीजल से जलाकर मौत के घाट उतार दिया. इस खौफनाक वारदात को अंजाम देने वाले सास-ससुर फरार हैं. जबकि पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है.

दिल दहला देने वाली यह वारदात गाजियाबाद के लाजपत नगर, साहिबाबाद की है. दहेज की भेंट चढ़ने वाली 36 वर्षीय संगीता वर्मा एक सरकारी टीचर थी. संगीता की शादी 15 साल पहले संजीव नागर के साथ हुई थी. शादी के बाद उनके दो बच्चे भी हैं. संगीता का ससुर रिचपाल सिंह शहरी विकास मंत्रालय का रिटायर्ड अधिकारी है.

संगीता की शादी के बाद से ही ससुराल वाले हमेशा दहेज की मांग किया करते थे. लेकिन संगीता इंकार कर दिया करती थी. इसी बात से खफा होकर ससुराल वाले उसके साथ रोजाना मार-पीट किया करते थे. संगीता ने इस बात की शिकायत अपने माता पिता से की. वह अपने पति से तालाक लेना चाहती थी.

Sangeeta

मगर उसके माता-पिता बदनामी के डर से उसे चुप करा दिया करते थे. परिजनों का साथ नहीं मिला तो संगीता 15 साल से इन भेडियों के अत्याचार को सहती जा रही थी. पीड़िता कहीं दूसरों के सामने मुंह न खोल दे इस डर से हैवान सास-ससुर उसके बच्चों को मारने की धमकी भी दिया करते थे.

पुलिस के मुताबिक रोज की तरह गुरूवार को भी संगीता अपने बच्चों के लिए किचन में नाश्ता बना रही थी. तभी उसकी सास रामभुली वहां आई और संगीता से 15 लाख रूपये की मांग करते हुए लड़ने लगी. संगीता के मना करने पर बौखलाई सास ने अपनी पति और बेटे के साथ मिलकर उस पर एसिड फेंक दिया. इतने से भी उनका मन नहीं भरा तो सास-ससुर ने संगीता पर डीजल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया. फिर सब वहां से फरार हो गए.

घटना को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने संगीता के परिजनों को फोन पर बताया कि वह जल गई है. ख़बर मिलते ही संगीता के परिजन फौरन मौके पर पहुंच गए और उसे गाजियाबाद स्थित अस्पताल में भर्ती कराया. जहां से डॉक्टरों ने गंभीर हालत को देखते हुए पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेफर कर दिया.

डॉक्टरों का कहना था कि संगीता का शरीर 90 प्रतिशत तक जल चुका था. उसकी हालत बहुत खराब थी. जिसके चलते इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गई. संगीता के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने दहेजलोभी ससुरालियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. पुलिश ने मृतका के पति को गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन सास-ससुर अभी भी फरार हैं. पुलिस उन्हें तलाश कर रही है.

हमारे सहयोगी समाचार पत्र मेल टुडे में इस ख़बर का खुलासा होने के बाद महिला कल्याण मंत्री मेनका गांधी ने इस मामले पर संज्ञान लिया है. वे जल्द ही संगीता के परिवार से मिलने जाएंगी. 

 

टैग्स

Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay