एडवांस्ड सर्च

फिर चकमा दे गई हनीप्रीत, राम रहीम के गांव में घंटों तलाशी के बाद पुलिस के हाथ खाली

गुरमीत राम रहीम की खासम खास माने जाने वाली हनीप्रीत ने एक बार फिर पुलिस को चकमा दे दिया है. श्रीगंगानगर में पुलिस को तलाशी के दौरान हनीप्रीत नहीं मिली.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ शरत कुमार श्रीगंगानगर, 21 September 2017
फिर चकमा दे गई हनीप्रीत, राम रहीम के गांव में घंटों तलाशी के बाद पुलिस के हाथ खाली पुलिस ने हनीप्रीत की तलाश में गर्ल्स स्कूल को चारों तरफ से घेर रखा है

गुरमीत राम रहीम की खासम खास माने जाने वाली हनीप्रीत ने एक बार फिर पुलिस को चकमा दे दिया है. श्रीगंगानगर में पुलिस को तलाशी के दौरान हनीप्रीत नहीं मिली. पुलिस कई घंटों से हनीप्रीत की तलाशी में राम रहीम के गांव को चारों तरफ से घेर कर तलाशी अभियान चला रही थी. लेकिन एक बार फिर हनीप्रीत पुलिस को चकमा देकर निकल गई. 

दरअसल राजस्थान के श्रीगंगानगर में पुलिस फोर्स ने हनीप्रीत के छिपे होने की ख़बर मिलने के बाद एक गर्ल्स स्कूल को घेर लिया था. कहा जा रहा था कि स्कूल के आसपास की हनीप्रीत छुपी हुई है.

इससे पहले पुलिस को गुप्त सूत्रों से ख़बर मिली था कि श्रीगंगानगर जिले के गुरुसर मोडिया इलाके में मौजूद एक गर्ल्स स्कूल में हनीप्रीत के छिपे होने की ख़बर है. यह सूचना मिलते ही हरियाणा पुलिस की टीम राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर मौके पर पहुंच गई. तीन थानों का फोर्स वहां बुला लिया गया. पुलिस ने स्कूल को चारों तरफ से घेर लिया.

लेकिन सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है. आपको बता दें कि गुरुसर मोडिया गुरमीत राम रहीम का गांव हैं, जहां डेरा सच्चा सौदा ही इस स्कूल का संचालन भी करता है.

बता दें, ख़बर ये थी कि हिंदुस्तान से उड़कर हनीप्रीत नेपाल जा पहुंची है. पुख्ता सबूत भले ही न हों लेकिन तमाम सुराग यही गवाही दे रहे हैं. हनीप्रीत की तलाश में हिंदुस्तानी एजेंसियों के सिग्नल नेपाली एजेंसियों और मीडिया तक पहुंच गए हैं. इन्हीं सिग्नलों को टटोलते-टटोलते आजतक की टीम भी नेपाल के तमाम उन ठिकानों में दस्तक दे रही है, जहां से हनीप्रीत से नाम का कोई भी साया गुजरा हो. आजतक की ये तलाश अब नेपाल की हवाओं में भी तैर रही है.

सूत्रों के मुताबिक नेपाल पहुंची हनीप्रीत किसी एक जगह पर छिपकर नहीं बैठी. उसे अच्छे से पता है कि उसकी तलाश में नेपाली एजेंसियां भी जुट गई हैं. इसीलिए वो नेपाल में भी लगातार ठिकाने बदल रही है. आखिरी बार उसे पोखरा में देखा गया लेकिन सूत्रों के मुताबिक वो पोखरा में ही मगलिन, दमौली, दोखानी, धादिंग, कुंचा, बेसिहार, कुसमा और नोवाकोट के बीच यहां से वहां हो रही है. उसे विराटनगर और महेंद्रनगर में भी देखा गया.

चेहरे बदलने में माहिर हनीप्रीत को दबोचने के लिए भारतीय एजेंसियों ने नेपाल पुलिस को उसके तमाम हुलियों की तस्वीर तो भेज ही रखी है. यदि वो किसी गांव देहात में छुप कर बैठी हो तो उसकी खबर देने के लिए रेडियो पर भी एनाउंसमेंट हो रहा है. पोखरा के चौक चौराहों पर भी हनीप्रीत की स्याह शोहरत चस्पा हो गई है. भारतीय एजेसिंयो से मिले इनपुट की बिनाह पर नेपाली पुलिस और तमाम एजेंसियों चप्पे चप्पे पर उसे तलाश रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay