एडवांस्ड सर्च

जानें क्यों खारिज हुई हनीप्रीत की जमानत याचिका, कोर्ट ने क्या-क्या कहा

हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है. साथ ही कोर्ट ने हनीप्रीत को सरेंडर करने का विकल्प भी दिया है. हरियाणा पुलिस की मोस्ट वॉन्टेड हनीप्रीत ने अपने वकील के जरिए दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी. उसने अपनी याचिका में ड्रग्स सिंडिकेट से खुद को जान का खतरा बताया था. जानिए सिलसिलेवार मंगलवार को कोर्ट में क्या हुआ.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ संजय शर्मा / पूनम शर्मा नई दिल्ली, 26 September 2017
जानें क्यों खारिज हुई हनीप्रीत की जमानत याचिका, कोर्ट ने क्या-क्या कहा हाई कोर्ट ने हनीप्रीत की याचिका को खारिज कर दिया

हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है. साथ ही कोर्ट ने हनीप्रीत को सरेंडर करने का विकल्प भी दिया है. हरियाणा पुलिस की मोस्ट वॉन्टेड हनीप्रीत ने अपने वकील के जरिए दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी. उसने अपनी याचिका में ड्रग्स सिंडिकेट से खुद को जान का खतरा बताया था. जानिए सिलसिलेवार मंगलवार को कोर्ट में क्या हुआ.

दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत और पुलिस का पक्ष सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा था. पहले शाम को 6 बजे फैसला आना था, लेकिन बाद में कोर्ट ने करीब साढ़े सात बजे अपना फैसला सुनाया. जिसमें हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज करते हुए उसे सरेंडर करने का विकल्प दिया गया.

साथ ही हाई कोर्ट ने हनीप्रीत को पंजाब हाई कोर्ट जाने के लिए भी कहा है. हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि हनीप्रीत इंसां गिरफ्तारी से बचती रही हैं और इसलिए किसी विशेष राहत की हकदार नहीं हैं. हाईकोर्ट ने हनीप्रीत के वकील से कहा कि यह दिल्ली का मामला नहीं बनता. आप यहां बस वक्त खराब कर रहे हैं.

HC

कोर्ट ने कहा कि वह पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दे सकती हैं. हरियाणा पुलिस के वकील ने कहा कि हनीप्रीत का बैकग्राउंड क्लीन नहीं है. यदि वो दिल्ली में है, तो उसे पुलिस को बताना चाहिए.

पुलिस के वकील ने कहा कि दिल्ली हनीप्रीत का न्यायिक क्षेत्र ही नहीं बनता. न तो उसका पासपोर्ट दिल्ली का है, न ही पता. इसलिए उसे ट्रांजिट बेल नहीं दी जानी चाहिए. कोर्ट ने कहा कि हनीप्रीत को तीन हफ्ते का ट्रांजिट बेल क्यों चाहिए? इस पर हनीप्रीत के वकील ने कहा कि पंजाब और हरियाणा में उसके खिलाफ माहौल है.

दिल्ली पुलिस ने कहा कि हनीप्रीत बाबा रहीम की बेहद करीबी है. हरियाणा पुलिस उसे लगातार खोज रही है. वह कानून की कोई मदद नहीं कर रही है. दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को भरोसा दिलाया कि वो हनीप्रीत को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचने देगी.

DHC

पुलिस ने कहा कि दिल्ली में ग्रेटर कैलाश का जो पता दिया गया है, वो गलत है. ऐसे में समझा जा सकता है कि हनीप्रीत क्या कर रही है. कोर्ट ने कहा कि क्या हनीप्रीत सरेंडर के लिए तैयार है? तो वकील ने कहा कि वो पुलिस जांच में सहयोग के लिए तैयार है.

वकील ने कहा कि हनीप्रीत को पुलिस की तरफ से कभी नोटिस नहीं दिया गया है. वकील ने कहा कि उसके खिलाफ कोई FIR नहीं है. उसका कोई रोल नहीं है. ऐसे में उसकी गिरफ्तारी की जरूरत ही नहीं है. कोर्ट ने पूछा, क्या हनीप्रीत दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर करने के लिए तैयार है.

जस्टिस ने हनीप्रीत के वकील से पूछा- यह याचिका उनके अधिकार क्षेत्र में कैसे आता है? इस पर वकील ने कहा कि हनीप्रीत का घर दिल्ली में ही है. उसकी जान को खतरा है. जस्टिस संगीता धीगड़ा अदालत में हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही थीं. इस दौरान दिल्ली पुलिस और हरियाणा पुलिस के वकील भी मौजदू थे. वे लगातार हनीप्रीत के वकील से सवाल करते रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay