एडवांस्ड सर्च

मियां-बीवी चलाते थे फर्जी क्राइम-ब्रांच, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

दोनों पति-पत्नी क्राइम ब्रांच और खुफिया विभाग का अधिकारी बनकर लोगों से अवैध उगाही में जुटे हुए थे. पुलिस ने दोनों पति-पत्नी समेत तीन को गिरफ्तार कर लिया है.

Advertisement
aajtak.in
चिराग गोठी नई दिल्ली, 17 September 2019
मियां-बीवी चलाते थे फर्जी क्राइम-ब्रांच, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार पुलिस गिरफ्त में आरोपी

  • शाहदरा निवासी 12वीं पास महिला थी गैंग की सरगना
  • सरगना समेत तीन गिरफ्तार, फर्जी परिचय पत्र बरामद

उत्तर-पश्चिमी दिल्ली जिले की पुलिस ने मियां बीवी द्वारा चलाए जा रहे फर्जी क्राइम ब्रांच का भंडाफोड़ किया है. दोनों पति-पत्नी क्राइम ब्रांच और खुफिया विभाग का अधिकारी बनकर लोगों से अवैध उगाही में जुटे हुए थे. पुलिस ने दोनों पति-पत्नी समेत तीन को गिरफ्तार कर लिया है.

गिरफ्तार लोगों में एक पुरुष और दो महिलाएं शामिल हैं. पुलिस उपायुक्त विजयंता आर्या ने बताया कि गिरफ्तार 33 वर्षीय दीपक कुमार और ज्योति रिश्ते में पति-पत्नी हैं, जबकि तीसरी 43 वर्षीय पूनम सेठी है. दीपक और ज्योति दिल्ली से सटे गाजियाबाद में रहते हैं, जबकि पूनम मंडोली रोड, शाहदरा की निवासी है. दीपक पहले टूर और ट्रैवल तथा प्रापर्टी डीलिंग का काम करता था.

आर्या के अनुसार कुछ समय पहले दीपक सोशल मीडिया के जरिए पूनम सेठी के संपर्क में आया. दोनों ने मिलकर फर्जी क्राइम ब्रांच और अपना फर्जी इंटेलिजेंस ब्यूरो बना डाला. इसके बाद दोनों ने मिलकर दीपक की पत्नी ज्योति को भी ठगी के इस काले कारोबार में जोड़ लिया.

उन्होंने कहा कि गैंग की मास्टरमाइंड 12वीं तक पढ़ी पूनम ही है. पुलिस के अनुसार, इस फर्जी क्राइम ब्रांच के खिलाफ 15 सितंबर को उस्मानपुर निवासी एक शख्स ने थाना सुभाष प्लेस में शिकायत दी थी. शिकायत में कहा गया था कि कुछ लोग क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर उससे पांच लाख रुपये वसूलने की कोशिश में लगे हैं.

इसी शिकायत के आधार पर सहायक पुलिस आयुक्त संजीव कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठित कर दी. जब फर्जी क्राइम ब्रांच के ब्लैकमेलर महिला-पुरुष अधिकारियों का सामना असली पुलिस से हुआ तो ठगी के इस खेल का भांडा फूट गया.

डीसीपी आर्या ने बताया कि गिरफ्तार फर्जी क्राइम ब्रांच गैंग के कब्जे से पुलिस टीम को चार मोबाइल फोन, दोस्त पुलिस का एक फर्जी परिचय-पत्र और नेशनल क्राइम इंटेलिजेंस ब्यूरो का एक फर्जी परिचय-पत्र मिला है.

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay