एडवांस्ड सर्च

12 साल की बच्ची से गैंगरेप करने वाले 17 आरोपियों को वकीलों ने पीटा, केस लड़ने से इनकार

कोर्ट में सुनवाई पूरी होने के बाद भारी सुरक्षा में जब इन आरोपियों को कोर्ट से बाहर लाया जा रहा था तभी वकीलों का एक ग्रुप बारी-बारी से उन पर हमला करने लगा और उन्हें हाथ-पैर से मारने लगे. पुलिस को उन्हें बचाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 17 July 2018
12 साल की बच्ची से गैंगरेप करने वाले 17 आरोपियों को वकीलों ने पीटा, केस लड़ने से इनकार वकीलों के गुस्से का शिकार हुए गैंगरेप के आरोपी

चेन्नई के अयानवरम इलाके में एक नाबालिग बच्ची के साथ 22 लोगों के महीनों तक किए गए यौन शोषण का मामला सामने आने से लोगों में खासा रोष है. कोर्ट में पेशी के दौरान 17 दोषियों पर वकीलों के एक गुट ने हमला बोल दिया.

12 साल की मासूम बच्ची के साथ 22 लोग पिछले 7 महीने से रेप कर रहे थे. रेप करने वाले आरोपियों में अपार्टमेंट में तैनात सिक्योरिटी गार्ड, लिफ्ट ऑपरेटर, प्लंबर और यहां तक कि रोज पानी सप्लाई करने वाले तक शामिल हैं. मंगलवार को जब आरोपियों को कोर्ट ले जाया जा रहा था तभी 50 वकीलों के एक ग्रुप ने उन पर हमला बोल दिया.

MHAA नहीं लड़ेगा इनका केस

दूसरी ओर, मद्रास हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन (एमएचएए) ने 17 आरोपियों के लिए केस लड़ने से मना कर दिया है. एसोसिएशन का कहना है कि अगर आरोपियों को कानूनी मदद मुहैया कराई जाती है तो एसोसिएशन इसका विरोध करेगा.

चेन्नई स्थित महिला कोर्ट में सभी गिरफ्तार आरोपियों को सुबह पेश किया गया. कैमरे के सामने यह पूरी प्रक्रिया चली. 17 आरोपियों को 31 जुलाई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. पुलिस ने मामले में 25 लोगों को गिरफ्तार किया था, लेकिन कोर्ट ने 17 लोगों को 31 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

कोर्ट में सुनवाई पूरी होने के बाद भारी सुरक्षा में जब इन आरोपियों को कोर्ट से बाहर लाया जा रहा था तभी वकीलों का एक ग्रुप बारी-बारी से उन पर हमला करने लगा और उन्हें हाथ-पैर से मारने लगे. पुलिस को उन्हें बचाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. बाद में पुलिस उन्हें सुरक्षित निकालने में कामयाब हो गई और किसी सुरक्षित जगह ले गई.

जानकारी के मुताबिक, आरोपी नाबालिग बच्ची को नशीला पदार्थ खिलाकर अचेत कर देते, फिर उसके साथ रेप करते थे. बच्ची के साथ लगातार अमानवीय व्यवहार किए जाने से अब उसे सुनने में दिक्कत हो रही है.

बहन को बताई आपबीती

पिछले 7 महीने से हैवानियत का शिकार हो रही बच्ची ने जब मां और बहन को आपबीती बताई तो मामले का खुलासा हुआ. बच्ची की मां ने महिला पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद अपार्टमेंट में काम करने वाले 17 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, बच्ची ने बताया कि आरोपी उसे नशीला पदार्थ खिलाकर अचेत कर देते और उसके बाद उसके साथ रेप करते. आरोपी उसे कभी नशीला इंजेक्शन लगा देते तो कभी नशीला कोल्ड ड्रिंक पिला दिया करते थे. यहां तक मासूम को कुछ नशीला पाउडर सुंघाकर भी अचेत कर देते.

आरोपी न सिर्फ बच्ची के साथ रेप करते बल्कि इस दौरान उन्होंने मासूम के कई अश्लील वीडियो भी बनाए. आरोपियों ने जान से मारने की धमकी देने के अलावा मासूम को उसका अश्लील वीडियो इंटरनेट पर अपलोड करने का डर भी दिखाया.

सातवीं में पढ़ने वाली पीड़ित बच्ची आखिरकार जब अपने साथ हो रहे अत्याचारों को नहीं झेल पाई तो उसने बीते शनिवार को स्कूल से लौटते वक्त अपनी बहन को पूरी बात बता दी.

शुरुआत 66 साल के बुर्जुग ने की

पीड़ित बच्ची ने पुलिस को बताया कि अपार्टमेंट में तैनात 66 साल के लिफ्ट ऑपरेटर रवि कुमार ने सबसे पहले उसके साथ रेप किया. तीन दिन बाद ही वह अपने दो और साथियों को लेता आया और इस बार तीनों ने मिलकर बच्ची के हैवानियत की और उसका वीडियो भी बना लिया. इसके बाद तो उसके साथ रेप का सिलसिला चल निकला और रेपिस्टों की संख्या बढ़ती चली गई.

पुलिस ने बताया कि अपार्टमेंट में काम करने वाले सिक्योरिटी गार्ड से लेकर अपार्टमेंट में विभिन्न काम के लिए अक्सर आने जाने वाले वॉटर सप्लायर और प्लंबिंग का काम करने वाले 17 लोगों को हिरासत में ले लिया. मामले में 22 आरोपी सामने आए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay