एडवांस्ड सर्च

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने पर पत्रकार के खिलाफ केस

छत्तीसगढ़ के कांकेर में एक पत्रकार के खिलाफ देशद्रोह और साइबर एक्ट के तहत आपराधिक केस दर्ज किया गया है. आरोप है की पत्रकार ने सोशल साइट पर देश के सवैधानिक पदों पर आसीन व्यक्तियों के खिलाफ न केवल गाली गलौच, अभद्द कमेंट किया, बल्कि नक्सलियों का हिमायती होने का भी दावा किया.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार/ सुनील नामदेव रायपुर, 01 May 2018
राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने पर पत्रकार के खिलाफ केस छत्तीसगढ़ के कांकेर का मामला

छत्तीसगढ़ के कांकेर में एक पत्रकार के खिलाफ देशद्रोह और साइबर एक्ट के तहत आपराधिक केस दर्ज किया गया है. आरोप है की पत्रकार ने सोशल साइट पर देश के सवैधानिक पदों पर आसीन व्यक्तियों के खिलाफ न केवल गाली गलौच, अभद्द कमेंट किया, बल्कि नक्सलियों का हिमायती होने का भी दावा किया.

सोशल साइट पर भेजा गया इस कथित पत्रकार का पोस्ट इतना आपत्तिजनक और अश्लील है कि उसे लिख पाना संभव नहीं है. जयपुर के एक शख्स की सोशल साइट पर डाले गए पोस्ट से वह व्यक्ति इतना विचलित हुआ कि उसने छत्तीसगढ़ पुलिस के साइबर सेल में अपनी शिकायत दर्ज करा दी है.

इस शख्स ने एक वेबसाइट को भी अपनी शिकायत से अवगत कराया है. आखिरकर छत्तीसगढ़ पुलिस मुख्यालय ने कांकेर जिले के पुलिस को FIR दर्ज करने का निर्देश दिया. आरोपी पत्रकार का नाम कमल शुक्ला बताया जा रहा है. इस मामले में FIR दर्ज करने के बाद पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है.

मुख्य शिकायतकर्ता से सोशल मीडिया डाले गए सारे पोस्ट मांगे गए हैं. बताया जाता है कि आरोपी पत्रकार कमल शुक्ला ने फेसबुक के एक पोस्ट में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सुप्रीम कोर्ट के जज, बीजेपी अध्यक्ष और संघ प्रमुख पर अश्लील कंटेंट पोस्ट किया था. इस पर राजस्थान के एक व्यक्ति ने आपत्ति जताई.

उसने इसकी शिकायत आपत्तिजनक ऑनलाइन कंटेट पर काम करने वाले वेबसाइट पर भी की थी. इस वेबसाइट ने मामले की गंभीरता को देखते हुए छत्तीसगढ़ पुलिस को अपना शिकायती ई-मेल किया था. साइबर सेल की प्राथमिक जांच के बाद आरोपी पत्रकार के खिलाफ आईपीसी की धारा 124A केस तहत केस दर्ज हुआ.

पुलिस के मुताबिक, साइबर एक्ट के तहत दर्ज इस मामले में तथ्य एकत्र किए जा रहे हैं. शिकायतकर्ता के बयान दर्ज होने के बाद साइबर एक्ट की कुछ धराएं बढ़ाई जा सकती हैं. गोपनीयता का हवाला देते हुए पुलिस ने शिकायतकर्ता के नाम का खुलासा नहीं किया है. इस मामले की जांच सब इंस्पेक्टर संदीप बंजारे कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay