एडवांस्ड सर्च

बिहार: शिक्षिका ने की आत्महत्या, 5 साल पहले किया था अंतरजातीय विवाह

पुलिस ने भी जांच शुरू की तो आसपास खून के निशान मिले हैं. अंतरजातीय विवाह की वजह से दोनों परिवार में कुछ अनबन भी चल रही थी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस इस मामले को हर बिंदु पर जांच कर रही है कि ये आखिर आत्महत्या है या हत्या?

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in समस्तीपुर, 14 September 2019
बिहार: शिक्षिका ने की आत्महत्या, 5 साल पहले किया था अंतरजातीय विवाह समस्तीपुर में शिक्षिका ने की खुदकुशी

  • समस्तीपुर में शिक्षिका की लाश पंखे से लटकी मिली
  • शिक्षिका ने पांच साल पहले अंतरजातीय विवाह किया था

बिहार के समस्तीपुर के मोहनपुर में एक निजी स्कूल की शिक्षिका की लाश उसके किराए के मकान में पंखे से लटकी मिली. शिक्षिका ने पांच साल पहले परिवार के खिलाफ जाकर अंतरजातीय विवाह किया था. वह अपने पति के साथ किराए के मकान में रह रही थी.

इस घटना के बाद से आसपास के लोगों के साथ पुलिस भी सकते में है. जहां शिक्षिका की लाश पंखे से झूल रही थी उस जगह से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसे उसके पति ने फर्जी बताया है. पुलिस ने भी मामले को संदिग्ध मानकर जांच शुरू कर दी है और सुसाइड नोट को फोरेंसिक जांच के लिए भेजने की तैयारी शुरू कर दी है.

दरअसल मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के मोहनपुर में बेगूसराय की रहने वाली प्रीति कुमारी रहती थी. वह डीएवी स्कूल की शिक्षिका थीय वह अंतरजातीय विवाह के बाद अपने पति अभिजीत कुमार के साथ किराए के मकान में रहती थी. अभिजीत समस्तीपुर के ही सरायरंजन थाना अंतर्गत गूढमा गांव का रहने वाला है. करीब 5 साल पहले ही उसकी अंतरजातीय शादी हुई थी और फिलहाल कोई बच्चा नहीं था.

गुरुवार की शाम जब अभिजीत के चाचा और दूसरे रिश्तेदार घर पहुंचे तो देखा कि दरवाजा खुला हुआ था और प्रीति फंदे से झूल रही थी. तब उन्होंने इस घटना की जानकारी मकान मालिक को दी. मकान मालिक ने घटना की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो लड़की लाश पंखे से झूल रही थी. इसके बाद शव को पंखे से उतारा गया. घटना की जानकारी पर पहुंचे पति ने सुसाइड नोट को फर्जी बताकर आत्महत्या के रूप में एक नया मोड़ ला दिया.

पुलिस ने भी जांच शुरू की तो आसपास खून के निशान मिले हैं. अंतरजातीय विवाह की वजह से दोनों परिवार में कुछ अनबन भी चल रही थी. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस इस मामले को हर बिंदु पर जांच कर रही है कि ये आखिर आत्महत्या है या हत्या?

जानकारी के मुताबिक, सुसाइड नोट में लिखा था, मां मुझे माफ करना मैं सही थी. मां मैं जो बोली वो सच था. मैंने कुछ भी गलत नहीं किया. मैंने आपसे एक दोस्त की तरह सब कुछ कहा था. सुसाइड नोट में लिखा था, मैं अभिजीत के बिना नहीं रह सकती. इसलिए मेरे चले जाने से सबकी चिंता खत्म हो जाएगी. मुझे माफ कर देना. मेरी इच्छा है कि मेरी लाश को आप अपने साथ ले जाओ.

पति से चल रही थी अनबन

पिछले कुछ दिनों से प्रीति और उसके पति अभिजीत के बीच किसी मामले को लेकर अनबन चल रही थी, जिसका कुछ जिक्र संदिग्ध सुसाइड नोट में भी किया गया है. सुसाइड नोट पर ध्यान दें तो उससे ऐसा प्रतीत होता है कि अभिजीत प्रीति के साथ नहीं रहना चाह रहा था. वहीं प्रीति उसके बिना नहीं जी सकती थी. अभिजीत ने इस तरह बयान पुलिस को भी दिया है. हालांकि अभिजीत का कहना है कि कुछ दिनों से प्रीति की मां उसके साथ रह रही थी और अभिजीत अपने गांव चला गया था.

पति का आरोप है कि मृतका की मां और मामा ने मिलकर उसकी हत्या कर दी है और फर्जी सुसाइड नोट लिखकर रख दिया. वहीं इस मामले में पुलिस हर पहलू पर जांच करते हुए मृतका के पति, माँ मामा को जांच के घेरे में रखकर तहकीकात शुरू कर दी है. वही सुसाइड नोट को फॉरेंसिक जांच में भेजने की तैयारी कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay