एडवांस्ड सर्च

पटना HC के सामने तस्वीर खिंचा रहा है रेप आरोपी, कहां है बिहार पुलिस?

बिहार की राजधानी पटना में बलात्कार के मामले का एक आरोपी खुलेआम हाई कोर्ट के सामने तस्वीर खिंचवा रहा है, लेकिन वहां की पुलिस उसे पकड़ नहीं पा रही है. आरोपी एक शिक्षक नेता है, जिस पर एक महिला टीचर के साथ बलात्कार करने का आरोप है. पुलिस उसे तलाश कर रही है लेकिन वो खुलेआम घूम रहा है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ सुजीत झा पटना, 11 November 2017
पटना HC के सामने तस्वीर खिंचा रहा है रेप आरोपी, कहां है बिहार पुलिस? ये तस्वीर सामने आने पर पुलिस की फजीहत हो रही है

बिहार की राजधानी पटना में बलात्कार के मामले का एक आरोपी खुलेआम हाई कोर्ट के सामने तस्वीर खिंचवा रहा है, लेकिन वहां की पुलिस उसे पकड़ नहीं पा रही है. आरोपी एक शिक्षक नेता है, जिस पर एक महिला टीचर के साथ बलात्कार करने का आरोप है. पुलिस उसे तलाश कर रही है लेकिन वो खुलेआम घूम रहा है.

बलात्कार के आरोपी की यह तस्वीर सामने आने पर पटना पुलिस की फजीहत हो रही है. आरोपी शिक्षक होने के साथ-साथ नियोजित शिक्षक संघ का प्रदेश स्तर के नेता भी है. समान काम समान वेतन के मुद्दे पर जब पटना हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही थी, तो बलात्कार का यह आरोपी कोर्ट के बाहर खड़े होकर बड़ी शान से फोटो खींचा रहा था.

बलात्कार के आरोपी इस शिक्षक का नाम जयंत कुमार सिंह है, जो औरंगाबाद के करहारा राजकीय मध्य विद्यालय का प्रधानाध्यपक था. बलात्कार का आरोप लगने के बाद से वह फरार चल रहा है. लेकिन शिक्षा विभाग ने अभी तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं की है. पुलिस भी हाथ पर हाथ धरे बैठी है.

हैरानी की बात ये है कि औरंगाबाद कोर्ट में इसकी जमानत याचिका भी रद्द हो चुकी है. अब इसे हाईकोर्ट का ही आसरा है. जयंत कुमार सिंह पर उसी के स्कूल की एक शिक्षका ने बलात्कार का आरोप लगाया था. उसके खिलाफ औरंगाबाद के महिला थाने में बीती 22 सितंबर को केस नंबर 32/17 दर्ज कराया गया था.

इस केस में निचली अदालत आरोपी जयंत की जमानत याचिका खारिज कर चुकी है. गिरफ्तारी का वारंट निकला हुआ है. लेकिन अभी तक पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी का कोई प्रयास नहीं किया. इस केस की जांच अधिकारी शकुन्तला देवी पीडिता से कहती हैं कि आप ही बता दीजिए वो कहां है, हम गिरफ्तार कर लेंगे. औरंगाबाद के डीएसपी पी.एन. साहू तो पीडिता को कहते हैं, मामले को रफा दफा कीजिए. बिना सहमति के कुछ होता है क्या.

औरंगाबाद के जिला शिक्षा पदाधिकारी रामप्रवेस सिंह ने अपनी जांच रिपोर्ट में लिखा है जयंत कुमार सिंह अपनी खराब तबीयत का हवाला देकर 2 अक्टूबर से अवकाश पर है. जबकि उनका एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें वो कुछ व्यक्तियों के साथ पटना उच्च न्यायालय में मौजूद है.

जांच रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि उन पर यौन शोषण का मामला दर्ज है. वो जमानत लेने के प्रयास में है. जयंत कुमार सिंह का यह आचरण शिक्षक के आचरण के बिल्कुल विपरीत है. उन पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए.

औरंगाबाद के राजकीय मध्य विद्यालय करहारा की शिक्षिका ने जयंत पर आरोप लगाते हुए महिला थाने में मामला दर्ज कराया है. महिला का आरोप है कि जयंत कुमार पिछले डेढ साल से डरा धमका कर जबरन उसका यौन शोषण कर रहा है. चूंकि वह अपने पति के साथ नहीं रहती है. वो इसी बात का फायदा उठाकर लगातार उसे प्रताडित करता रहा है.

जयंत कुमार सिंह बगल के गांव का रहने वाला है. नियोजित शिक्षक संघ का नेता होने के कारण उसे किसी का भी डर नहीं है. न ही वह पुलिस से डरता है और न ही विभागीय कार्रवाई से. इस पूरे मामले की वजह से विद्यालय की पढाई बिल्कुल ठप है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay