एडवांस्ड सर्च

E Salaam Cricket 2020: हरजभन बोले- जमीन खरीदूंगा, खेतों में अनाज उगाकर गरीब परिवारों में बांटूंगा

ई-सलाम क्रिकेट 2020 में हरभजन सिंह ने कहा कि भगवान ने हमें उस लायक बनाया है कि हम कुछ लगों की मदद कर सकें. चाहे वो खाना खिलाने के तौर पर हो या वापस घर पहुंचाने के तौर पर. अगर मुश्किल वक्त में आप उनके साथ खड़े होकर हंसकर बात कर लेते तो निश्चित तौर पर आप उनकी जिंदगी में फर्क पाते हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 13 June 2020
E Salaam Cricket 2020: हरजभन बोले- जमीन खरीदूंगा, खेतों में अनाज उगाकर गरीब परिवारों में बांटूंगा हरभजन सिंह (फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा है कि कोरोना के इस दौर में उन्होंने बहुत कुछ सीखा है. उन्होंने कहा कि मुश्किलें जब आती हैं तो बहुत सीखने का मौका लेकर आती हैं. मैंने अपनी जिंदगी में पहले किसी दूसरे का दुख इतने करीब से नहीं समझ सका था. हरभजन ने साथ ही ये भी कहा कि आने वाले समय में वो एक जमीन लेंगे और जो भी अनाज वहां पर पैदा होगा वो सिर्फ गरीब परिवार में बांटा करेंगे.

ई-सलाम क्रिकेट 2020 में हरभजन सिंह ने कहा कि भगवान ने हमें उस लायक बनाया है कि हम कुछ लगों की मदद कर सकें. चाहे वो खाना खिलाने के तौर पर हो या वापस घर पहुंचाने के तौर पर. अगर मुश्किल वक्त में आप उनके साथ खड़े होकर हंसकर बात कर लेते तो निश्चित तौर पर आप उनकी जिंदगी में फर्क पाते हैं.

ये भी पढ़ें- सचिन ने पिता को किया था प्रॉमिस, नहीं करेंगे तंबाकू-शराब को प्रोमोट, ये थी वजह

टीम इंडिया के पूर्व गेंदबाज ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान मेरे करीबी दोस्तों ने बहुत से घरों में राशन पहुंचाया. बहुत से लोगों को उनके घरों तक पहुंचाया गया. मैं कोशिश करूंगा कि आने वाले समय में मैं एक जमीन लूं और जो भी अनाज वहां पर पैदा हो वो सिर्फ और सिर्फ ऐसे परिवार को दूं जिनको खाने को अनाज नहीं मिलता है.

ये भी पढ़ें- BJP सांसद गौतम गंभीर ने केजरीवाल सरकार को दिए 5 सुझाव

हरभजन ने कहा कि भगवान ने हमें इतना दिया तो अब हमारा फर्ज है कि हम समाज को दें. कोरोना ने मुझे इंसानियत सीखा दिया, इसका मैं शुक्रगुजार रहूंगा, लेकिन उसे अब यहां से जाना होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay