एडवांस्ड सर्च

आजतक के स्टिंग का असर, रेल टिकटों की कालाबाजारी करने वाले 7 दलाल गिरफ्तार

रेलवे टिकटों के गोरखधंधा को लेकर आजतक के स्टिंग ऑपरेशन का बड़ा असर हुआ है. पुलिस ने देर रात पहाड़गंज इलाके में छापेमारी कर टिकट का गोरखधंधा करने वाले एक गैंग को पकड़ा है. इसमें वो तीनों दलाल भी हैं, जो स्टिंग ऑपरेशन में दिखाई दे रहे थे.

Advertisement
aajtak.in
मो. हिज्बुल्लाह/ जमशेद खान / नितिन जैन नई दिल्ली, 22 May 2020
आजतक के स्टिंग का असर, रेल टिकटों की कालाबाजारी करने वाले 7 दलाल गिरफ्तार पुलिस गिरफ्त में आए टिकट दलाल

  • आजतक ने किया था स्टिंग ऑपरेशन
  • पुलिस ने देर रात की छापेमारी
  • कम्प्यूटर-मोबाइल बरामद

रेलवे टिकटों के गोरखधंधे को लेकर आजतक के स्टिंग ऑपरेशन का बड़ा असर हुआ है. स्टिंग देखने के बाद पुलिस ने गुरुवार देर रात दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में छापेमारी की. कई लोग धरे गए हैं और पूरे गैंग पर पुलिस का शिकंजा कस गया है. इसके साथ ही पुलिस ने कम्प्यूटर और मोबाइल फोन भी बरामद किए हैं.

पुलिस के मुताबिक, देर रात पहाड़गंज इलाके में छापेमारी करके टिकट का गोरखधंधा करने वाले एक गैंग को पकड़ा है. गिरफ्तार सात लोगों में दीपक, कृष्णकांत और संतोष भी हैं, जो आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में रेलवे टिकट की कालाबाजारी करते दिखाई दिए थे. इनके पास से 6 कम्प्यूटर और 4 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं.

पुलिस अब आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में दिखने वाले राजू की तलाश कर रही है. इसके साथ ही पूरे मामले की पड़ताल की जा रही है. गौरतलब है कि आज से रेलवे में काउंटरों पर टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई है. इस मुश्किल घड़ी में भी रेलवे के दलालों की मनमर्जी जारी है. आजतक के ऑपरेशन में वो दलाल कैमरे में कैद हुए जो टिकटों का गोरखधंधा कर रहे थे.

रेलवे ने की लोगों से ये अपील

आजतक के स्टिंग ऑपरेशन के सामने आने के बाद रेलवे ने लोगों से दलालों के चंगुल में न फंसने की अपील की है. रेलवे ने कहा कि दलालों से टिकट खरीदना गैर-कानूनी है. टिकट को रेलवे रिजर्वेशन काउंटर या फिर ऑनलाइन ही बुक करें. हम एक साथ मिलकर इस संकट की घड़ी में लड़ेंगे. आइए देश को इस अस्वस्थता से हमेशा के लिए छुटकारा दिलाएं.

क्या था स्टिंग

अगर आपको कहीं जाना हो और आप आईआरसीटीसी के वेबसाइट पर जाकर टिकट कराते हैं तो हो सकता है कि टिकट नहीं मिले. ऐसा शायद इसलिए हो रहा होगा कि आपके टिकट की कालाबाजारी हो रही है. आजतक तीन-तीन अंडरकवर रिपोर्टर ने मिलकर इस कालाबाजारी का भंडाफोड़ किया.

दिल्ली के पहाड़गंज में ‘बुक इंडिया ट्रिप’ के टूर ऑपरेटर कृष्ण कांत से हमारे अंडर कवर रिपोर्टर ने रांची जाने वाले यात्री के तौर पर बात की तो उसने ई-टिकट ब्लैक में देने की पेशकश की. रिपोर्टर ने कांत से कहा, "हमने कोशिश की लेकिन खुद बुकिंग कराने में नाकाम रहे." एजेंट ने जवाब दिया- "यदि आप अपने बूते टिकट बुक करा सकते तो क्या हमें अपनी दुकान बंद नहीं करनी पड़ेगी?"

कृष्ण कांत ने यह बताने से इनकार किया कि IRCTC की वेबसाइट से आरक्षण कैसे सुनिश्चित किया जाता है जबकि आम यात्री जूझता रहता है. इसकी जगह उसने कहा, “मैं रेसिपी नहीं बताऊंगा लेकिन स्वादिष्ट खाने का वादा करता हूं.” एजेंट ने रांची के लिए एक 3AC सीट के 4,000 रुपये मांगे जिसका असल में उस वक्त किराया 2,400 रुपये था.

एजेंट ने दावा किया कि वो कन्फर्म्ड डील की पेशकश कर रहा है. उसने पांच रिजर्वेशन की बुकिंग के लिए 20,000 रुपये मांगे. भारतीय रेलवे का ऑनलाइन बुकिंग सिस्टम हैकिंग के लिए कोई अजनबी नहीं है. पहले भी टिकटों की जमाखोरी कर उन्हें ऊंचे दामों पर बेचने वाले शातिर टिकट एजेंटों और ठगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. कृष्ण कांत जैसे कई और भी इस गोरखधंधे में शामिल हैं.

पूरा स्टिंग ऑपरेशन पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay