एडवांस्ड सर्च

हनी ट्रैप में फंसाकर किया अगवा, फिर मांगी 10 लाख की फिरौती

दिल्ली के जगतपुरी में एक शख्स को किडनैप करके फिरौती वसूलने के आरोप में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पीड़ित रजनीश को एक महिला और संतोष नामक आरोपी के चंगुल से पुलिस ने 10 दिन बाद सकुशल छुड़ाया है. यह मामला हनी ट्रैप और किडनैपिंग का है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ के साथ इस मामले की जांच कर रही है.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार/ रामकिंकर सिंह नई दिल्ली, 18 August 2016
हनी ट्रैप में फंसाकर किया अगवा, फिर मांगी 10 लाख की फिरौती 10 दिन बाद सकुशल छुड़ाया गया पीड़ित

दिल्ली के जगतपुरी में एक शख्स को किडनैप करके फिरौती वसूलने के आरोप में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पीड़ित रजनीश को एक महिला और संतोष नामक आरोपी के चंगुल से पुलिस ने 10 दिन बाद सकुशल छुड़ाया है. यह मामला हनी ट्रैप और किडनैपिंग का है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ के साथ इस मामले की जांच कर रही है.
 
डीसीपी ऋषिपाल ने बताया कि पूर्वी दिल्ली के जगतपुरी में विकलांग लड़का रजनीश शान्ति मुकुन्द अस्पताल में एक लैब टेकनिशियन है. गुड्डी नामक महिला पिछले 5 महिनों से अपस्ताल में इलाज के बहाने आते-जाते रहती थी. इसी दौरान दोनों में दोस्ती हो गई. बीते 6 अगस्त को उस लड़की ने रजनीश से कहा कि उसके भाई का बर्थडे वह उसे ले जाना चाहती है.

हैनी ट्रैप में फंसाया
पीड़ित रजनीश के मुताबिक, एक दोस्त के नाते वह उस लड़की के घर जाने के लिए तैयार हो गया. एक ऑटो से दोनों कृष्णा नगर से शाहदरा गए. उसके बाद शाहदरा से गाजियाबाद के भोपारा के लिे दूसरे ऑटो में बैठ गए. वहां एक मकान में लड़की ने उसे एक महिला के हवाले कर दिया और वहां से किसी काम के बहाने बाहर चली गई. महिला ने उसे इंताजर के लिए बोला.

बनाया अश्लील वीडियो
उसने बताया कि कुछ देर बाद उस महिला ने अपने दोस्तों के साथ उसे बंधक बना लिया. उसके साथ जबरन अश्लीलता की गई. उसका वीडियो बनाया गया. उसे 10 दिन एक अंधेरे कमरे में बंद करके मारा पीटा गया. कुछ भी खाना नहीं दिया. महिला और उसका एक साथी संतोष ने कहा कि वह अपने घर कॉल करके 10 रुपये मांगे वरना वे उसे बदनाम कर देंगे.

ऐसे हुई गिरफ्तारी
इसके बाद रजनीश ने अपने घरवालों को अपने मोबाइल से फोन किया. उनसे 10 लाख रुपये देकर अपनी जान छुड़ाने की बात कही. उसके घरवालों ने बैक अकाउंट में 20 हजार रुपये डाल दिए. इसके बाद उसे 80 हजार रुपये की मांग की गई. घरवालों ने पुलिस को सूचित कर दिया. पुलिस ने मोबाइल फोन से लोकेशन ट्रेस करके आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay