एडवांस्ड सर्च

मारा गया मथुरा हिंसा का मास्टरमाइंड रामवृक्ष, डीजीपी ने की पुष्टि

मथुरा में अतिक्रमण हटाने के दौरान भड़की हिंसा का मास्टरमाइंड रामवृक्ष यादव मारा गया है. इस बात की पुष्टि खुद उत्तर प्रदेश के डीजीपी जावीद अहमद ने की है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर मथुरा, 04 June 2016
मारा गया मथुरा हिंसा का मास्टरमाइंड रामवृक्ष, डीजीपी ने की पुष्टि हिंसा के बाद अतिक्रमण हटवा दिया गया

मथुरा में अतिक्रमण हटाने के दौरान भड़की हिंसा का मास्टरमाइंड रामवृक्ष यादव मारा गया है. इस बात की पुष्टि खुद उत्तर प्रदेश के डीजीपी जावीद अहमद ने की है.

मारा गया रामवृक्ष
डीजीपी जावीद अहमद ने कहा है कि शिनाख्त के लिए सभी लाशों का डीएनए टेस्ट भी करवाया गया. उसके बाद मृतकों के शवों की शिनाख्त पुलिस ने तस्वीरों के आधार पर की. इसी दौरान पता चला कि हिंसा के दौरान मारे गए लोगों में रामवृक्ष यादव भी शामिल था. एसएसपी मथुरा ने खुद इस बात की जानकारी डीजीपी को दी.

शहीद SO के अंतिम संस्कार
गोलीबारी में शहीद एसओ संतोष यादव के अंतिम संस्कार के लिए उनके परिजन मान गए. इसके बाद शनिवार सुबह शहीद संतोष पंचतत्व में विलीन हो गए. मंत्री पारसनाथ यादव और दूसरे अधिकारियों ने उन्हें तेरहवीं से पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के वहां आने का भरोसा दिलाया है. पहले यादव के परिजन सीएम के आने के बाद ही अंतिम संस्कार की बात कर रहे थे. मंत्री के साथ जौनपुर के प्रशासनिक अधिकारी और सपा के स्थानीय नेता भी मौजूद रहे.

 

हेमा ने पूछा- राज्य सरकार और कानून व्यवस्था कहां है?
इस बीच शुक्रवार देर रात सांसद हेमा मालिनी मथुरा पहुंची. उन्होंने इस हिंसा के लिए राज्य सरकार पर सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि मुझे लोगों की चिंता है, तभी मैं यहां आई हूं. मैं समय-समय पर आती रहती हूं पर राज्य सरकार कहां है? कानून-व्यवस्था कहां है? उन्होंने कहा कि मैं यहां शहीद पुलिस अधिकारियों के परिजनों से मिलूंगी. अस्पताल में घायल पुलिसवालों से मिलूंगी. डीएम से भी मिलूंगी.

हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन में हिस्सा लेंगी हेमा
हेमा मलिनी ने पूछा कि यहां राज्य सरकार क्यों नही आई? मुझसे सवाल पूछने वाले पहले मेरे सवालों का जवाब दें. उन्होंने पूछा कि सरकार और पुलिस के आसपास इतने हथियार जमा हो गए कैसे? उन्होंने कहा कि मुझे तो दो महीने पहले इस कब्जे का पता चला. मैंने अधिकारियों से बात भी की थी. इस घटना की सीबीआई जांच होनी ही चाहिए. मैं घटनास्थल पर जाऊंगी और धरना-प्रदर्शन में हिस्सा लूंगी.

आखिरकार पुलिस ने हटाया अतिक्रमण
इस बीच सरकारी जमीन पर से अतिक्रमण को पूरी तरह हटा दिया है. यूपी के डीजीपी जावीद अहमद ने कहा कि 'जवाहर बाग में पुलिस पर हथियारों और लाठियों से हमला हुआ. इसके बावजूद पुलिस ने उपद्रवियों को कड़ी चुनौती दी.' उन्होंने कहा, फिलहाल जवाहर बाग पूरी तरह खाली करा लिया गया है. उपद्रवियों ने विस्फोटक और गोला-बारूद का इस्तेमाल किया. झोपड़ियों में गैस सिलेंडर और विस्फोटक छुपा कर रखे गए थे.

24 लोगों की मौत, भारी मात्रा में हथियार बरामद
मथुरा में सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने गई पुलिस टीम पर फायरिंग में SP सिटी मुकुल द्विवेदी और एक SO संतोष कुमार यादव समेत 24 लोगों को मार दिया गया. साथ ही कई पुलिसकर्मी घायल भी हो गए हैं. हिंसा के बाद घटनास्थल से 315 बोर के 45 हथियार और दो 12 बोर के हथियार बरामद किए गए. कार्रवाई के दौरान पुलिस ने 47 पिस्टल और पांच राइफल भी बरामद की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay