एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दिल्ली पुलिस के ACP ने हमलावरों से बचाई युवक की जान

दिल्ली के शेखसराय इलाके में मंगलवार की रात 11 बजे के करीब एक युवक को कुछ लोग हेलमेट और लोहे की रॉड से पीट रहे थे. इसी बीच दिल्ली पुलिस के एसीपी आदित्य गौतम वहां से गुजर रहे थे. उन्होंने बदमाशों को देखा तो तुरंत अपनी बाइक रोक कर उनपर टूट पड़े. इस बीच बदमाशों ने उन पर भी हमला कर दिया. इस घटना में एसीपी का सिर फट गया, लेकिन उन्होंने एक हमलावर को धर दबोचा. बाकी आरोपी मौके से फरार हो गए, लेकिन तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.
दिल्ली पुलिस के ACP ने हमलावरों से बचाई युवक की जान दिल्ली पुलिस के एसीपी आदित्य
अरविंद ओझा [Edited By: मुकेश कुमार]नई दिल्ली, 19 October 2016

दिल्ली के शेखसराय इलाके में मंगलवार की रात 11 बजे के करीब एक युवक को कुछ लोग हेलमेट और लोहे की रॉड से पीट रहे थे. इसी बीच दिल्ली पुलिस के एसीपी आदित्य गौतम वहां से गुजर रहे थे. उन्होंने बदमाशों को देखा तो तुरंत अपनी बाइक रोक कर उनपर टूट पड़े. इस बीच बदमाशों ने उन पर भी हमला कर दिया. इस घटना में एसीपी का सिर फट गया, लेकिन उन्होंने एक हमलावर को धर दबोचा. बाकी आरोपी मौके से फरार हो गए, लेकिन तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

एसीपी आदित्य गौतम ने बताया, 'मैं अपनी ड्यूटी खत्म कर पुष्पा भवन स्थित अपने दफ्तर से घर जा रहा था. जब मैं अपनी बाइक से शेखसराय के पास पहुंचा, तो देखा कि छह से सात युवक एक बाइक सवार को रॉड और हेलमेट से पीट रहे हैं. घटना के समय आसपास उन युवकों को अलावा कोई नहीं था. मैंने अपनी बाइक लगाई और पीड़ित युवक को आरोपियों के बीच से निकालने की कोशिश करने लगा, लेकिन आरोपियों ने मेरे साथ भी हाथापाई शुरू कर दी. मैंने आरोपियों को समझाने की कोशिश भी की.'

हमले के बाद भी जूझते रहे
आदित्य ने बताया कि उन्होंने हमलावरों को चेताया कि वह पुलिस हैं. वो लोग गलत कर रहे हैं. घायल युवक की हालत अधमरे जैसी हो चुकी है. उसकी जान भी जा सकती है. उन्होंने हमलावरों को हटाने की कोशिश की, लेकिन उन लोगों ने उनके साथ भी हाथापाई शुरू कर दी. उनके उपर भी लोहे की रॉड और हेलमेट से हमला कर दिया. उनकी संख्या अधिक थी, इसलिए उन्होंने पीसीआर को फोन किया. इसी बीच उनकी हालत देखकर हमलावर वहां से फरार हो गए, लेकिन एक को उन्होंने पकड़ लिया.

आरोपी को दौड़ाकर पकड़ा
इसी बीच पुलिस वहां आ गई. इसके बाद घायल शख्स को उनके हवाले कर आदित्य ने हमलावरों का पीछा किया. अपनी बाइक से करीब चार किमी तक पीछा करने के बाद उन्होंने मदनगीर इलाके में आरोपी को उसके घर के पास पकड़ लिया. इसके बाद तीन और आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस घटना में आदित्य को गंभीर चोट आई है. उनके सिर और पीठ से काफी खून बहा है. लेकिन उनकी बहादुरी की वजह से एक युवक की जान जाने से बच गई. महकमे में भी आदित्य की तारीफ हो रही है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay